पिथौरागढ़ में पचास लाख की लैपर्ड खाल बरामद, एक गिरफ्तार

बड़ी कार्रवाईः वन्य जीव अंगों का तस्कर गिरफ्तार, छह लैपर्ड की खाल और बड़ी संख्या में गुलदार के नाखून व दांत बरामद

तस्करी में प्रयुक्त कार सीज, एक तस्कर अंधेरे का फादया उठाकर फरार
अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में बरामद 6 खालों की कीमत करीब पचास लाख

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। एसटीएफ ने पिथौरागढ़ के सेरा घाट क्षेत्र में वन्य जीव अंगों के तस्कर को गिरफ्तार कर उससे छह लैपर्ड की खाल, गुलदार के नाखून व दांत और तस्करी में प्रयुक्त एक कार बरामद की। जबकि, उसका एक साथी अंधेरे का फयदा उठाकर फरार हो गया। पुलिस ने अरोपी के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में बरामद 6 खालों की कीमत करीब पचास लाख रुपये बताई जा रही है। एसएसपी,एसटीएफ अजय सिंह ने यह जानकारी दी।


उत्तराखंड एसटीएएफ प्रभारी को सूचनस मिली कि पिथौरागढ़ के सेरा घाट क्षेत्र में दो वन्यजीव अंगो के अन्तर्राष्ट्रीय तस्कर वन्यजीव के अंगों की तस्करी करने की फिराक में है। सूचना पर एसटीएफ की कुमाऊं युनिट को सतर्क कर निरीक्षक एमपी सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। एसटीएफ की टीम ने सेराघाट क्षेत्र में एक अभियुक्त राहुल सिंह डसीला पुत्र स्व. प्रताप सिंह डसीला निवासी ग्राम सेरा उर्फ बडोली थाना बेरीनाग, पिथौरागढ़ को छह लैपर्ड की खाल, गुलदार के 43 नाखून व 24 दांत तथा तस्करी में प्रयुक्त कार के साथ गिरफ्तार कर लिया। जबकि, उसका साथी सोनू डोभाल पुत्र स्व. कैलाश सिंह डोभाल, निवासी शेरा बडोली सेराघाट, पिथौरागढ़ जंगल में अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया।
लेपर्ड वाइल्ड लाइफ एक्ट में शेड्यूल 1 श्रेणी में आता है। अभियुक्त के विरुद्ध थाना बेरीनाग में वन्य जीव जन्तू संरक्षण अधिनियम की संबन्धित धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है।

गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि वह सेराघाट के जंगलों में करंट लगाकर लैपर्ड मारते हैं और फिर ऊंची कीमतों में लैपर्ड की खाल को नेपाल के वन्यजीव तस्करों को बेचते हैं। इससे पूर्व 2019 में वह दोनों नेपाल में एक खाल बेच चुके हैं। बरामद 6 खालो की अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब पचास लाख रुपया है। अभियुक्त इस लैपर्ड की खाल को नेपाल में किस-किस को सप्लाई करता है, इस संबंध में अभियुक्त से पूछताछ की जा रही है।


तस्कर को गिरफ्तारी करने वाली टीम में एसटीएफ कुमाऊं युनिट के .उप निरीक्षक केजी मठपाल, उप निरीक्षक बृजभूषण, कांस्टेबल महेन्द्र गिरी, किशोर कुमार, सुरेन्द्र सिंह कनवाल, दुर्गा सिंह पापड़ा और गुरवंत सिंह शामिल थे।

Nalanda
Flower

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!