गुलदार को जिंदा जलाने के मामले में ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज

अमानवीय घटना से वन विभाग में हलचल

अविकल उत्तराखंड

पाबौ,पौड़ी। दस दिन पहले सपलोड़ी गांव के निकट सुषमा देवी को मारने वाले गुलदार को आक्रोशित ग्रामीणों ने जिंदा जलाकर मार डाला। मंगलवार को पाबौ विकासखंड के सपलोड़ी गांव के निकट वन विभाग ने गुलदार को पिंजरे में कैद कर लिया था। यह सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। और गुलदार को जलाने की कोशिश करने लगे। इस दौरान वन विभाग के अधिकारियों की ग्रामीणों से हाथापाई भी हुई। लेकिन ग्रामीणों ने पिंजरे में आग लगा दी।

डीएफओ मुकेश कुमार ने बताया कि सात वर्षीय गुलदार को जिंदा जलाने वाले मामले में वन विभाग ने ग्राम प्रधान सपलोड़ी  अनिल कुमार, देवेंद्र सिंह, हरि सिंह मई की रावत, सरिता देवी, विक्रम सिंह,  कैलाश देवी व 150 अज्ञात लोगों के  खिलाफ वन संरक्षण अधिनियम व  अन्य धाराओं मुकदमा दर्ज कराया है।

इस पिंजरे में कैद हुआ था गुलदार

मुख्य वन्य जन्तु प्रतिपालक पराग धकाते ने कहा कि वन्य जन्तु सरंक्षण अधिनियम की विभिन्न धारा के तहत ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। गौरतलब है कि कुछ साल पहले भी पौड़ी जिले के बीरोंखाल इलाके में भी पिंजरे में कैद गुलदार को जिंदा जला दिया था।

बीते 15 मई को गुलदार ने सपलोड़ी गांव की सुषमा देवी को जंगल में मार डाला था। इसके बाद वन विभाग ने गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया था।

Pls clik

दुखद- पाबौ में गुलदार ने महिला को बनाया शिकार

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.