कोरोना कहर के बीच खुले यमुनोत्री धाम के कपाट , पंचमुखी डोली केदार रवाना

श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली धाम प्रस्थान हुई। 17 मई को खुलेंगे बाबा केदार के पट

15 मई को गंगोत्री व केदार के 17 मई को खुलेंगें कपाट। 18 मई को ब्रह्म मुहूर्त में खुलेंगें बद्रीनाथ जी के कपाट

विधि विधान व मंत्रोच्चार के बीच कपाट खुलने के दौरान मंदिर परिसर में 20-25 तीर्थ पुरोहित और प्रशासनिक अधिकारी ही रहे मौजूद। चारधाम यात्रा स्थगित होने से नहीं पहुंचे तीर्थयात्री

अविकल उत्त्तराखण्ड

बड़कोट, उत्तरकाशी। उत्तराखंड के उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट आज शुक्रवार को अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर दोपहर 12.15 बजे खोल दिए गए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते पिछली बार की भांति इस बार भी कपाट खुलने के मौके पर केवल तीर्थ पुरोहित और प्रशासनिक अधिकारी ही मौजूद रहे।


कपाट खुलने के अवसर पर मंदिर परिसर में मौजूद 20-25 श्रद्धालुओं ने मां यमुना के जयकारे लगाए। इस मौके पर बड़कोट के उपजिलाधिकारी चतर सिंह चैहान और मंदिर समिति के पदाधिकारियों के अलावा तीर्थ पुरोहित मौजूद थे।
इससे पहले, यमुना के शीतकालीन प्रवास स्थल खरसाली से सुबह करीब 9 बजे मां यमुना की डोली यमुनोत्री के लिए रवाना हुई।

देखें वीडियो

पहली बार अलग-अलग दिन खोले जाएंगे गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट

गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट हर साल अक्षय तृतीया के शुभ मुहूर्त पर खोले जाते हैं। लेकि, संभवतः ऐसा पहली बार हो रहा है जब दोनों मंदिरों के कपाट अलग-अलग दिनों पर खुल रहे हैं। गंगोत्री धाम के कपाट कल 15 मई को खुलेंगे। जबकि, यमुनोत्री धाम के कपाट आज 14 मई को खुल गए हैं।


दरअसल, इस साल अक्षय तृतीया 14 और 15 मई यानी दो दिन पड़ रही है। इस वजह से उदय काल 15 मई के दिन पड़ रहा है जिस वजह से इस दिन गंगोत्री धाम के कपाट 15 खोले जा रहे हैं। जबकि, ग्रीष्मकाल 14 मई को पड़ने की वजह से यमुनोत्री धाम के कपाट आज खोले गए।

चारधाम के ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार पहले ही चारधाम यात्रा स्थगित कर चुकी है। श्रद्धालुओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए उत्तराखंड सरकार श्रद्धालुओं को चारधाम के वर्चुअल दर्शन कराने की तैयारी कर रही है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बीते दिन देवस्थानम बोर्ड को वर्चुअल दर्शन कराने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। ऑनलाइन दर्शन के साथ ही भक्त ऑडियो सिस्टम के जरिए पूजा-अर्चना भी कर सकेंगे।

15 मई को गंगोत्री व केदार के 17 मई को खुलेंगें कपाट। 18 मई को ब्रह्म मुहूर्त में खुलेंगें बद्रीनाथ जी के कपाट

श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली धाम प्रस्थान हुई।

उखीमठ: 14 मई( रूद्रप्रयाग)
बाबा केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली आज श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से सादगीपूर्वक केदारनाथ धाम को प्रस्थान हुई।


इस अवसर पर रावल भीमाशंकर लिंग, पुजारी बागेश लिंग, देवस्थानम बोर्ड के अपरमुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी. सिंह , कार्याधिकारी एनपी जमलोकी, डोली प्रभारी यदुवीर पुष्पवान सहित प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। कल केदारनाथ पहुंचेगी। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि
17 मई को प्रात:पांच बजे श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।

चारधाम यात्रा स्थगित है अत: कोरोना महामारी को देखते हुए केवल मंदिरों के कपाट खुल रहे है। पूजापाठ से जुड़े कुछ ही लोगों को धामों में जाने की अनुमति दी गयी है। आज दिन में 12.15 बजे श्री यमुनोत्री धाम के कपाट खुलेंगे। जबकि कल 15 मई गंगोत्री धाम एवं 18 मई प्रात: को श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुल रहे है।
•मीडिया प्रकोष्ठ देवस्थानम बोर्ड।

Pls clik

ब्रेकिंग-राशन की दुकानें रोज 10 बजे तक खुलेंगी, देखें संशोधित आदेश

कोरोना 122 मौत, 7 हजार से अधिक संक्रमित, कुल मौत 4245

Nalanda
amaruttarakhand

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!