सीएम तीरथ तक पहुंची मानव तस्करी की तपिश, बोले- सख्त कार्रवाई हो

उच्चस्तरीय बैठक बुलायी। महिलाओं व बच्चों के मामले में त्वरित कार्रवाई हो

अपर सचिव स्तर का अधिकारी करे मॉनिटरिंग

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्त्तराखण्ड में बढ़ रही मानव तस्करी की तपिश सीएम कार्यालय ने भी महसूस की। चमोली जिले की नाबालिग लड़की को बेचने के मुद्दे पर शासन स्तर पर विशेष हलचल देखी गयी।

बुधवार मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अधिकारियों को प्रदेश में ह्यूमन ट्रैफिकिंग के मामलों को पूरी तरह से रोकने के लिए पुख्ता कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। human trafficking in uttrakhand

human trafficking in uttrakhand

हाल ही में चमोली की एक घटना को गम्भीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने बीजापुर हाउस में शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि महिलाओं और बच्चों के प्रति अपराध पर सख्त से सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

human trafficking in uttrakhand

नाबालिगों व महिलाओं के साथ हुए अपराधों पर की जाने वाली कार्यवाही की मॉनिटरिंग के लिये फुल टाइम अपर सचिव स्तर के अधिकारी की नियुक्ति के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फास्ट ट्रैक मोड में कार्रवाई सुनिश्चित हो। केवल मामला ही दर्ज नहीं करना है बल्कि यह भी सुनिश्चित किया जाना है कि अपराधी को सख्त से सख्त सजा मिले। 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि साईबर अपराध और बच्चों व महिलाओं के प्रति किए जाने वाले अपराध के मामलों को कार्रवाई के लिए सीधे रेगुलर पुलिस को सौंपा जाएं।

बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूङी, डीजीपी अशोक कुमार, सचिव  नितेश झा,  अमित नेगी, आर मीनाक्षी सुंदरम व शैलेश बगोली सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। human trafficking in uttrakhand

इससे जुड़ी अन्य खबरें, क्या था मामला, pls clik

उत्त्तराखण्ड में बिकी नाबालिग, शादी के खुलासे के बाद गांव लौटी,वीडियो देखें

ब्रेकिंग- वैक्सीन की दोनों डोज के बाद भी दो चिकित्सक कोरोना पॉजिटिव, हड़कंप मचा

Nalanda
Flower

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!