लाठीचार्ज…घाट कैंडल मार्च…उबाल, कुछ लोग फैला रहे अस्थिरता-त्रिवेंद्र

घाट कैंडल मार्च का देखिये वीडियो

दिवालीखाल की लाठीचार्ज से प्रदेश के कई हिस्सों में उबाल।

अविकल उत्त्तराखण्ड


घाट/गैरसैंण। बजट सत्र के पहले दिन हुए लाठीचार्ज के विरोध में कई दलों व संगठनों ने सड़क पर उतरकर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। कैंडल मार्च निकाला और घाट-नन्दप्रयाग सड़क के आंदोलनकारियों को समर्थन दिया।

घाट में मंगलवार की रात को बच्चे, महिलाओं व नागरिकों ने कैंडल मार्च निकाला। हाथ में कैंडल लिए स्थानीय लोग धरना स्थल तक गए। कैंडल मार्च में शामिल लोग पुलिस प्रशासन के रवैये की आलोचना करते हुए नारेबाजी कर रहे थे। ठंड में कई बच्चों ने भी मोमबत्ती पकड़ मार्च में हिस्सा लिया।

मंगलवार को घाट में निकाला गया कैंडल मार्च

इसके अलावा देहरादून से लेकर प्रदेश के कई हिस्सों में कांग्रेस, उक्रांद, आप व वामपंथी संगठनों ने भी लाठीचार्ज के विरोध में प्रदेश सरकार का पुतला फूंका।

इस मामले के तूल पकड़ने से विपक्षी दलों को सदन से लेकर सड़क तक हमले का पूरा मौका मिल गया है। कई स्तरों पर हुई इस चूक का सीधा असर प्रदेश सरकार की छवि पर पड़ रहा है। इस बीच, घायल आंदोलनकारी बसंती देवी का चित्र भी वायरल हो रहा है। महिला के चेहरे पर लगे घाव में पट्टी बंधी है।

उधर, भराड़ीसैण में मंगलवार की सुबह सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कुछ लोग अस्थिरता व भ्रम फैला रहे हैं।

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भराड़ीसैंण में मीडिया से वार्ता करते हुए कहा कि जनपद चमोली में गैरसैंण के समीप दिवालीखाल में घाट विकासखण्ड के लोगों द्वारा सड़क चौड़ीकरण को लेकर किये जा रहे प्रदर्शन के दौरान ग्रामीणों व पुलिस प्रशासन के बीच घटित घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में जो भी दोषी है उसका भी संज्ञान लिया जायेगा और यदि कोई निर्दोष है, तो उस पर कोई कारवाई नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी ब्लाक मुख्यालयों पर जिन पर ट्रेफिक कम है, उनको डेढ़ लेन से जोड़ने एवं अधिक ट्रेफिक वाले जनपदों को डबल लेन से जोड़ने की घोषणा पिछले माह अल्मोड़ा में की गई थी। चमोली जनपद भ्रमण के दौरान भी यह बात कही गई थी। लेकिन कुछ लोग अस्थिरता पैदा करना चाहते हैं एवं भ्रम फैलाने का कार्य कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस ने की भराड़ीसैण लाठीचार्ज की निंदा
लाठीचार्ज से आरएसएस व का असली चेहरा बेनकाब
आज प्रदेश कांग्रेस के आह्वाहन पर कांग्रेस के जिला मुख्यालयों पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह का पुतला फूंका
मुख्यमंत्री तत्काल लाठीचार्ज के दोषियों को सज़ा दें या इस्तीफा दें-धस्माना


देहरादून: उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार बीजेपी व आरएसएस का असली चेहरा कल भराड़ीसैण में घाट नंदप्रयाग सड़क के चौड़ीकरण की मांग कर रही महिलाओं व स्थानीय नागरिकों पर पुलिस द्वारा किये गया बर्बर लाठीचार्ज व वाटर कैनन से हमले से बेनकाब हो गया है जिसका आज कांग्रेस सदन से सड़क पर पुरजोर विरोध कर रही है यह बात आज प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कही।

देहरादून में कांग्रेस कार्यकर्ता

उन्होंने बताया कि आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह के आह्वाहन पर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर भराड़ीसैण कांड के खिलाफ त्रिवेंद्र सरकार का पुतला दहन किया। श्री धस्माना ने कहा कि राज्य बनने से लेकर अब तक किसी सरकार ने महिलाओं के साथ इतनी बर्बरता व क्रूरता नहीं की जितनी कल भराड़ीसैण में त्रिवेंद्र सरकार की पुलिस ने लाठीचार्ज व वाटर कैनन इस्तेमाल करके की। श्री धस्माना ने कहा कि भराड़ीसैण में आंदोलनरत लोग अपनी सड़क चौड़ीकरण की जायज मांग को लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे किन्तु बीजीपी सरकार को चाहे वो केंद्र की मोदी सरकार हो या राज्य ई त्रिवेंद्र सरकार यह बर्दास्त ही नहीं है कि कोई उनसे सवाल करे मांग करे या उनका विरोध करे क्योंकि उनका यह फासिस्ट चरित्र है।

मुद्दे से जुड़ी कई अन्य खबरें,plss clik

गैरसैंण सत्र-लाठीचार्ज व महिलाओं के अपमान पर माफी मांगे भाजपा, कांग्रेस ने सदन का किया बहिष्कार

Nalanda
Flower

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!