विदेशी महिला बन दून निवासी को शादी व व्यापार का झांसा दे 17 लाख ठगे

01 नाईजीरियन व 01 महिला सहित  कुल  03 अभियुक्त पुणे  से गिरफ्तार

STF एवं साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड की देशभर में धरपकड़ जारी

वर्ष 2021 में एसटीएफ द्वारा ठोस कार्यवाही करते हुये 03 नाईजीरियन व 01 कैमरुन विदेशी मूल के अन्तर्राष्ट्रीय  साईबर ठगों को पकड़ा

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। विदेशी महिला ने दून के एक व्यक्ति को शादी व व्यापार के वादे में फंसाकर 17 लाख हड़प लिए।

  एक ऐसे ही मामले में  प्रकाश नगर देहरादून निवासी सुनील शादी के फेर में फंसकर लाखों गांव बैठा। साइबर धोखाधड़ी के शिकार सुनील को “ BHARAT MATRIMONY SITE” के माध्यम से एक विदेशी महिला का विवाह का प्रस्ताव आया। दोनों की वॉट्सअप एवं ईमेल के जरिये चैट  होने लगी । विवाह की सहमति बनी लेकिन महिला द्वारा लॉकडाउन के कारण भारत आने मे असमर्थता जतायी गयी ।

इसी बीच उक्त विदेशी महिला द्वारा शिकायतकर्ता को भारत में Aquadin Herbal Oil (केसर युक्त ऑयल जो कि जानवरों के ताकत की दवाईयों में प्रयोग हेतु)  का व्यापार कर भारी मुनाफा कमाने का आकर्षक प्रस्ताव दिया गया।

एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि इसके बाद उक्त महिला नर वरली (मुम्बई)  स्थित व्यापारी एवं स्वयं की कम्पनी से सुनील का ई-मेल एवं फोन से सम्पर्क कराया गया ।  उनकी बातो में आकर सुनील ने मुम्बई स्थित व्यापारी से सम्पर्क कर Aquadin Herbal Oil खऱीदने हेतु विभिन्न किस्तो में कुल 17,10,000/- (सतरह लाख दस हजार) उनके बताये गये खातों में जमा करा दिए। बाद में सुनील को साइबर ठगों की ठगी का अंदाजा हुआ।

वादी द्वारा की गई शिकायत के आधार पर मुकदमा अपराध संख्या 16/21 पंजीकृत किया गया । प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये  विकास भारद्वाज के नेतृत्व में टीम गठित की गयी ।

अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुये घटना में प्रयुक्त मोबाईल, ई-वालेट तथा बैंक खातों के बारे में जानकारी की गयी । एक पुलिस टीम तत्काल दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र  रवाना की गयी ।

अभियुक्त शातिर किस्म के थे उनको तलाश करना मुश्किल होने पर एसटीएफ से महिला उ0नि0 निर्मल भट्ट को नाईजीरियन महिला मित्र से जान पहचान व तलाश हेतु भेजा गया। Digital Footprints व  काफी  Analysis  के बाद अभियुक्तों को Kingstone Serien pune  स्थित Flat में रहना Trace  किया गया।  

    पुलिस टीम द्वारा अथक प्रयास से 20 सितम्बर को  पुणे  से गिरोह के सरगना नाईजीरियन अभियुक्त सहित 01 महिला को Kingstone Serien pune  स्थित Flat से व एक अन्य पुरुष अभियुक्त को उन्दारी चौक  से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों को स्थानीय न्यायालय से ट्रांजिट रिमाण्ड प्राप्त कर देहरादून लाया गया ।

    अभियुक्तगणों से पूछताछ में पता चला कि उनके सहयोगी फेस बुक, मैट्रोमोनियल साइट एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से विदेशी महिला बनकर विभिन्न लोगों को दोस्ती, विवाह,विदेश से व्यापार कर भारी मुनाफा कमाने का लालच देकर धोखाधड़ी करते हैं।

अभियुक्तों द्वारा भारत वर्ष में कई अन्य लोगों को भी धोखाधड़ी का शिकार बनाया गया है।
    अभियुक्तो से पूछताछ में यह तथ्य भी प्रकाश में आये कि महिला अभियुक्त Swarnlata पूर्व में अबु-धाबी दुबई मे मोटर पार्ट कम्पनी में काम करती थी जहाँ उसको उस काम के 4000 दरम (दुबई मुद्रा) 80-90 हजार रुपये(भारतीय मुद्रा) मिलते थे।

उक्त महिला अभियुक्त की मुलाकात नाईजीरियन अभियुक्त से हुई। जो  2013 में मेडिकल वीजा पर दिल्ली आया था। दोनों लिव इन रिलेशन में रहने लगे।  वीजा की  वैद्यता समाप्त होने पर उक्त नाईजीरियन अभियुक्त उक्त महिला  के  साथ अलग-अलग स्थानों पर  छिप कर रहने लगा।

Covid के कारण महिला वापस भारत आकर अपने विदेशी नाईजीरियन मित्र के साथ मुम्बई/पुणे में किराये पर रहने लगी। साथ ही अन्य भारतीय मित्रों के साथ मिलकर विभिन्न राज्यों के व्यक्तियों को Herbal Oil का Online बिजनेस करने के नाम पर उनसे विभिन्न बैंक खातो में धनराशि प्राप्त करने की योजना बनायी जिस कार्य हेतु उनके द्वारा विभिन्न व्यक्तियों व स्वयं के नाम से मोबाइल सिम खरीदे गये व मुम्बई स्थित विभिन्न बैंक शाखाओं में खाते खुलवाये गये। हर्बल आयल बेचने के नाम पर धोखाधड़ी से प्राप्त धनराशि मे सबका कमीशन पहले से ही तय था ।
    
इस धोखाधड़ी में अभियुक्त रमेश जिसकी पुणे में OM COMMUNICATION नाम से मोबाइल की दुकान है, उक्त अभियुक्त का महिला अभियुक्त से सम्पर्क होने पर लालच में आकर फर्जी आईडी पर कई सिमकार्डों को प्रिएक्टिवेट कर अपने सह अभियुक्तों को प्रदान करता था।

अपराध का तरीका- अभियुक्तगण फेसबुक, मैट्रोमोनियल साइट एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से विदेशी महिला बनकर पर विदेशी बनकर दोस्ती/विवाह का प्रस्ताव भेजते है व उन्हे अपनी बातो के झांसे में लेकर भारत में हर्बल सामग्री एवं अन्य सामान खरीद कर उन्हे अधिक कीमत में विदेशी कम्पनियों को बेचकर भारी मुनाफा कमाने का लालच देकर जाल में फंसाते है, तथा उक्त हर्बल सामग्री/ अन्य सामान खरीदने हेतु विभिन्न बैंक खातो में धनराशि प्राप्त कर धोखाधड़ी करते है । जिस कार्य हेतु फर्जी आई0डी0 पर सिम प्राप्त कर उक्त सिमो पर मर्चेन्ट/ई-वॉलेट खोलकर उनसे बैक खातो को लिंक करवाकर लोगो से फ्रॉड करते है ।
    
गिरफ्तार अभियुक्त-
1- Swaranlata Barnabas Minz D/O Barnabas Minz R/O Flat no-602 Kingstone Serien, handiwadi, pune, Maharashtra. ( Originally of Jharkhand)
2- Nwaokoro Chike Stanley R/O Flat no-602 Kingstone Serien, handiwadi, pune, Maharashtra.
3- Ramesh S/O Ghevar Ram R/O Jodhpur Rajashtan At present Flat no 07 C/O Bharti Lovdari Chowk Near PNB Bank Bharti Society Kondwa  Pune Maharashtra.

बरामदगी-
1-    मोबाइल फोन- 10 (घटना में प्रयुक्त)
2-    18 एक्टिव सिम कार्ड (विभिन्न कम्पनियों के फर्जी आईडी मे प्राप्त)
3-      58  सिम कार्ड (विभिन्न कम्पनियो के)
4-    लैपटॉप- 01 (Lenovo)
5-    आधार कार्ड 08 (अभियुक्त एवं अन्य व्यक्तियो के)
6-      पासपोर्ट -03 (01 पासपोर्ट नाईजीरियन अभियुक्त व 02 महिला अभियुक्त का)
7-     चैकबुक – 14 (अपराध में प्रयुक्त बैंक खातो से सम्बन्धित )
8-     पासबुक – 01
9-     नैट सैटर वाई फाई-02 (इन्टरनेट प्रयोग हेतु)
10-     वाई फाई रूटर – (इन्टरनेट प्रयोग हेतु)

पुलिस टीम-
1-    निरीक्षक  विकास भारद्वाज   
2-    उ0नि0 निर्मल भट्ट
3-     उ0नि0 हिम्मत सिंह
4-     हे0का0प्रो0 सुनील भट्ट
5-    कानि0 मनोज बेनीवाल
6-    Technical Team/ एसटीएफ

      प्रभारी एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है कि वे फेसबुक/अन्य सोशल साइट्स पर अंजान व्यक्ति/महिला से दोस्ती का प्रस्ताव स्वीकार न करने और किसी भी प्रकार के लालच में आकर धनराशि देने तथा अपनी व्यक्तिगत जानकारी व महत्वपूर्ण डाटा शेयर करने से बचना चाहिये। । किसी भी प्रकार के लक्की ड्रॉ, डिस्काउन्ट, लॉटरी, पॉलिसी में बोनस के प्रलोभन में न आयें । कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें ।

Pls clik

उम्मीद- उत्त्तराखण्ड में कोविड टीकाकरण का डेली टारगेट कम हुआ

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!