समीक्षा अधिकारी बनाने का लालच दे 28 लाख की ठगी में यूपी निवासी दो फ्रॉड गिरफ्तार

ठगों ने उत्तरकाशी, टिहरी,पौड़ी के बेरोजगार युवकों को झांसा देकर ठगे लाखों,उत्तरकाशी में भी की थी नौ लाख की ठगी

अविकल उत्त्तराखण्ड/हरीश थपलियाल

उत्तरकाशी। उत्तराखंड सचिवालय और केंद्रीय सचिवालय में समीक्षा अधिकारी की नौकरी दिलाने के नाम पर 28 लाख रुपये हड़पने वाले यूपी के दो आरोपियों को उत्तरकाशी पुलिस ने देहरादून से गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने गढ़वाल के  उत्तरकाशी, टिहरी,पौड़ी के बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपये लिए थे। उत्तरकाशी जनपद से 9 लाख रुपये की ठगी की गई थी,इसके बाद ही मामले का खुलासा हुआ।

Uttarakhand crime

गिरफ्तार करने वाली टीम को उत्तरकाशी पुलिस अधीक्षक ने 2500 रुपये नगद इनाम दिए हैं।

दरअसल, ठगी का यह मामला 2019 के जुलाई और सितंबर माह के बीच का है। शिकायतकर्ता बृजेश कुमार पुत्र प्यारे लाल निवासी ज्ञानसू वार्ड नम्बर 11 की तहरीर के बाद उत्तरकाशी थाना कोतवाली में अभियुक्तों के विरुद्ध धारा 420,467,468,471पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ हुई। जिसकी जांच उपनिरीक्षक रमन बिष्ट को सौंपी गई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी पंकज भट्ट के निर्देश पर  थाना कोतवाली और एसओजी उत्तरकाशी की संयुक्त टीम गठित की गई। टीम ने गहन जांच पड़ताल के बाद अभियोग से संबंधित अभियुक्त यतीन्द्र देव पुत्र स्व.नरदेव कुमार उम्र 38 वर्ष निवासी सी-12 ऑफिसर कॉलोनी,दिल्ली रोड़ सहारनपुर यूपी और रवि कुमार पुत्र रतन पाल सिंह निवासी हरचंद पुर तहसील ज़हिराबाद,बुलंदशहर यूपी को आईटी पार्क टर्नर रोड़ जाने वाले क्रोसिंग मार्ग से गिरफ्तार किया है।

अभियुक्तों से घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या उक07DF-8979 मारुती सियाज कार, एक लैपटॉप,एक पासपोर्ट, आधार कार्ड,6 फोटोग्राफ,एक सिम कार्ड,3 बैंक चैक,3 स्टाम्प 100 रुपये मूल्य व प्रथमदृष्टया ठगी संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए।  उत्तरकाशी थाना कोतवाली के थानाध्यक्ष महादेव उनियाल ने बताया कि बाजार चौकी के एसआई रमन बिष्ट के नेतृत्व में टीम देहरादून भेजी गई थी।
टीम में कांस्टेबल राहुल नेगी,एसओजी के औसाफ खान,सुनील राणा मौजूद रहे।

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!