तुगलकी फरमान …अग्निपथ की बात… युवाओं से विश्वासघात- कांग्रेस

27 जून की सुबह 10 से 1 तक सभी विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी पदाधिकारी सत्याग्रह करेंगे

अविकल उत्तराखंड

देहरादून। पूर्व सांसद व राजस्थान राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड ,राजस्थान के अध्यक्ष लेफ्ट. कर्नल मानवेन्द्र सिंह ने कहा कि भाजपा ने अग्निपथ की बात कहकर युवाओं के साथ विश्वासघात किया है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आहूत पत्रकार वार्ता में पूर्व सांसद ने कहा कि मोदी सरकार बेरोजगारों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है।

उन्होने कहा कि 27 जून की सुबह 10 से 1 बजे सभी राज्यों के सभी विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के वरिष्ठ नेता और पदाधिकारी शांतिपूर्ण सत्याग्रह करेंगे

पूर्व सांसद मानवेन्द्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस अग्निवीर योजना को तुरंत प्रभाव से वापस लेने की मांग करती है। प्रधानमंत्री युवाओं की बात क्यों नहीं सुन रहे हैं? वह चुप क्यों है? हम उनसे उनके अहंकार को त्यागने का निवेदन करते हैं। उनके इसी अहंकार ने किसान आंदोलन के दौरान 700 किसानों की जान ली थी। देश हित में, हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा और युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए इस इतिहास को दोहराया नहीं जाना चाहिए और प्रधानमंत्री द्वारा अपनी गलती मानते हुए इस युवा और राष्ट्रविरोधी योजना को वापस लिया जाए।

पूर्व सांसद व राजस्थान राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष लेफ्ट. कर्नल मानवेन्द्र सिंह पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए

उन्होंने कहा कि यह तुगलकी सरकार पहले फैसला करती है, और बाद में सोचती है। अग्निपथ योजना के मामले में भी अनेक बदलाव आ चुके हैं, लेकिन भारत के युवा इसे वापिस लेने की मांग कर रहे हैं। आज देश को बचाने की जरुरत है, परंतु यह सरकार पैसे बचाने में लगी है। युवा, पूर्व सैनिक तथा रक्षा विशेषज्ञ, सभी हितधारकों (stakeholders) ने मोदी सरकार की इस अग्निपथ योजना को नकार कर दिया है। अनेक सेवारत अधिकारियों ने निजी तौर पर इस संबंध में अपनी चिंता व्यक्त की है। हम सेना के विरुद्ध एक शब्द भी नहीं कहते। हम अपने सशस्त्र बलों के कल्याण और राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति चिंतित हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि अग्निपथ योजना अभी तक भाजपा सरकार द्वारा बनाई गई एक अन्य गलत योजना है, जो मौजूदा समस्याओं का समाधान किए बिना भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए नई समस्याएं पैदा करेगी। अग्निवीरों के लिए प्रशिक्षण की अल्प अवधि (6 महीने) का हमारे सशस्त्र बलों की गुणवत्ता, दक्षता और प्रभावशीलता पर नकारात्मक असर पड़ेगा। व्यवहार और वेतन/लाभ के दो पैमाने निष्पक्षता के सभी मानदंडों का उल्लंघन है। यह भेदभाव सशस्त्र बलों और उनमें अनुशासन के लिए कई अप्रत्याशित और गंभीर समस्याएं पैदा करेगा।

उन्होंने सवाल किए कि देश में निवेश नहीं हो रहा है, उद्योग नहीं लग रहे, अर्थव्यवस्था चौपट हो रही है, लोगों को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। देश के करोड़ों युवा बेरोजगारी झेल रहे हैं, पर सरकार बिल्कुल बेपरवाह है और सरकारी आंकड़ों के अनुसार आज देश में 62 लाख से ज्यादा सरकारी नौकरियों के पद खाली पड़े हैं, जिनमें से 26 लाख तो केवल केन्द्र सरकार की नौकरियाँ हैं।

यह सरकार जवानों को केवल चार साल के बाद रिटायर करके, जनरल बिपिन रावत, सीडीएस का भी अपमान कर रही है। उन्होंने एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘सेना में सैनिक 17 साल के बाद में काम करके रिटायर हो जाते हैं, तो उनको रिटायरमेंट की एज बढ़ानी चाहिए। उन्होंने एक सर्कुलर भी निकाला था, उनके टाइम का ये सर्कुलर भी हम आपको अभी दे रहे हैं। इस प्रकार अग्निपथ स्कीम उनकी सोच और इच्छा का सीधा अपमान है।

पत्रकार वार्ता में प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि, अजय सिंह , लालचंद शर्मा, अश्वनी बहुगुणा ,प प्रतिमा सिंह ,अमरजीत सिंह उपस्थित थे।

Pls clik

चिंतनीय- केदारनाथ जोन में जलाया रहा हजारों टन प्लास्टिक कचरा

Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!