…तो हरदा के विरोध के बाद MLA काऊ निकले राहुल के आवास से !

–तो राहुल- हरीश की ‘कुछ-कुछ’ से टली विधायक उमेश काऊ की घर वापसी

माफी मांगने के बाद बागियों के नाम पर होगा विचार- हरीश रावत का पूर्व बयान

नेता प्रतिपक्ष बागियों की वापसी की राह आसान बनाने में जुटे

अविकल उत्त्तराखण्ड

नई दिल्ली/देहरादून कांग्रेस में शामिल होने के लिए राहुल गांधी के आवास पर बैठे भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ की ज्वाइनिंग को किसी ने रोका या फिर वो भाजपा की ओर से मंत्री पद का आफर मिलते ही पतली गली से खिसक लिए। कई तरह की कहानियां राजनीतिक गलियारे में घूम रही है। एक और खास कहानी की भी परतें खुल रही है।

दरअसल, यशपाल आर्य, संजीव आर्य व उमेश काऊ को कांग्रेस में शामिल कराने के लिए  प्रदेश स्तरीय नेता लंबे समय से जुटे हुए थे। चूंकि, सरकार गिराने में शामिल रहे बागियों की वापसी का पूर्व सीएम हरीश रावत खुली बगावत कर रहे है । वे कह चुके हैं कि माफी मांगने के बाद ही बागियों को कांग्रेस में शामिल किया जाएगा। लेकिन दूसरी ओर लंबे समय से दिवंगत डॉ इंदिरा ह्रदयेश व पूर्व अध्यक्ष प्रीतम मिशन बागियों की वापसी की राह आसान बनाने में जुटे हुए थे। और अब नये प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल बागियों की घर वापसी को लेकर खूब दावे कर रहे हैं।

इधर, दस अक्टूबर की देर रात तक प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव के 220 नार्थ एवेन्यू आवास पर प्रीतम सिंह व कार्यकारी अध्यक्ष रंजीत रावत की मौजूदगी में यशपाल आर्य, संजीव आर्य व उमेश शर्मा काऊ की घर वापसी को हरी झंडी दी गयी। अन्य नेताओं को रात 11 बजे मिशन की जानकारी देते हुए दिल्ली के वापसी कार्यक्रम में पहुंचने को कहा गया। अपने अपने क्षेत्र में व्यस्त  सभी प्रमुख नेता सुबह तक दिल्ली की सरहद में दाखिल हो चुके थे।

11 अक्टूबर का सूरज चढ़ने के बाद पूर्व सीएम हरीश रावत ने राहुल गांधी के सामने विशेषकर विधायक उमेश शर्मा की वापसी का विरोध किया। कहा कि यशपाल आर्य व संजीव आर्य ने उनकी सरकार नहीं गिराई थी जबकि विधायक उमेश काऊ सरकार गिरने वाले विजय बहुगुणा गुट में शामिल रहे। 2016 सरकार गिरने के बाद साथ रहे थे। ठीक 2017 के चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हुए थे।

तो हरीश रावत का विरोध पड़ा महंगा

हरीश रावत व राहुल गांधी की विधायक उमेश शर्मा की वापसी के मुद्दे पर ठीक ठाक चर्चा होने की भी खबर है। पूर्व सीएम हरीश रावत के संयत  भाषा में गंभीर विरोध दर्ज कराने की बात सामने आ रही है।

सूत्रों का कहना है कि राहुल-हरीश ‘वार्ता’ के बाद विधायक उमेश शर्मा की कांग्रेस में वापसी का निर्णय टालना पड़ा। और यह खबर लगते ही राहुल के आवास पर मौजूद उमेश शर्मा काऊ टॉयलेट का बहाना कर निकल लिए। और फिर दिल्ली में भाजपा नेताओं से मिल लिए।

Pls clik- मिशन कांग्रेस बागी से जुड़ी खबरें

..तो टॉयलेट के बहाने राहुल के घर से निकल लिए MLA उमेश शर्मा काऊ

शहीद विपिन गुसाईं को श्रद्धांजलि

शहीद विपिन गुसाईं के गांव पहुंच श्रद्धासुमन अर्पित

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!