#

जीएमवीएन के गेस्ट हाउस स्थानीय बेरोजगारों की मदद से चलाएं विभाग

सांस्कृतिक कलाकारों के बिलों का भुगतान समय से न होने पर महाराज को आया गुस्सा

पर्यटन मंत्री ने दिये जीएमवीएन कर्मचारियों की शीघ्र डीपीसी के आदेश

महाराज ने संस्कृति निदेशालय, जीएमवीएन मुख्यालय का किया औचक निरीक्षण

अविकल उत्तराखंड

देहरादून। पर्यटन, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज एक बार फिर गुस्से में हैं। इस बार सांस्कृतिक दलों के लम्बित बिलों आ भुगतान नहीं होने और वे कर्मचारी पर भड़क उठे। साथ में शासन में सचिव हरीश चंद्र सेमवाल भो थे। मंत्री सतपाल ने उपयोग में नहीं लाये जा रहे जीएमवीएन के गेस्ट हाउस स्थानीय बेरोजगारों की मदद से चलाने के भी निर्देश दिए।

महाराज ने संस्कृति निदेशालय एवं गढ़वाल मण्डल विकास निगम मुख्यालय का औचक निरिक्षण कर किया। अप्रैल 2022 से लंबित बिलों का भुगतान नहीं होने और फटकारा। सम्बन्धित कर्मी की ड्यूटी बदल दी। और कहा,लापरवाही बर्दाश्त नहीं तुरन्त भुगतान करें बिल का।

संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज सोमवार को संस्कृति सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल के साथ प्रातः 10:30 अचानक एमडीडीए, डालनवाला स्थित संस्कृति निदेशालय पहुंचे । और सांस्कृतिक कलाकारों के बिलों के भुगतान के निर्देश दिए।

मंत्री सतपाल ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि अप्रैल 2022 से अभी तक सांस्कृतिक कलाकारों के बिलों का भुगतान नहीं हो पा रहा था।

इसके बाद पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने राजपुर रोड़ स्थित गढ़वाल मंडल विकास निगम मुख्यालय का भी औचक निरिक्षण किया । और महाप्रबंधक विप्रा त्रिवेदी को गढ़वाल मंडल विकास निगम के कर्मचारियों की शीघ्र डीपीसी किए जाने के भी आदेश दिए। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की ग्रेजुएटी और एरियर आदि सभी प्रकार की लगभग 43 करोड़ की देनदारियों का शीघ्र समाधान किया जाएगा।

महाराज ने महाप्रबंधक विप्रा त्रिवेदी से कहा कि गढ़वाल मंडल विकास निगम के कई ऐसे गेस्ट हाउस हैं जो उपयोगी होने के बावजूद उपयोग में नहीं आ रहे हैं, उन्हें स्थानीय बेरोजगारों को देकर संचालित करवाने की व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *