बदरीनाथ मास्टर प्लान- शासन ने  तीर्थ पुरोहितों व व्यापारियों का मन टटोला

बद्रीनाथ महानिर्माण योजना का बजट 424 करोड़

अविकल उत्त्तराखण्ड

बदरीनाथ धाम। पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बदरीनाथ महानिर्माण योजना को लेकर शासन ने
सतीर्थ पुरोहितों, हक-हुकूकधारियों व स्थानीय व्यापारियों का मन टटोला।

पर्यटन-धर्मस्व एवं संस्कृति सचिव दिलीप जावलकर ने मंगलवार को तीर्थ पुरोहितों, हक-हुकूकधारियों व व्यापारियों के साथ बैठे। बद्रीनाथ मास्टर प्लान के संबंध में आपत्तियों एवं शंकाओं का निवारण भी किया।

Badrinath dham
मास्टर प्लान में ऐसे स्वरूप में दिखेगा बद्रीनाथ धाम

पर्यटन सचिव ने कहा कि बदरीनाथ महानिर्माण योजना 424 करोड़ का बजट रखा गया है। उन्होंने कहा कि बदरीनाथ मास्टर प्लान  केंद्र के सहयोग से लागू हो रही महत्त्वपूर्ण परियोजना है ।

उन्होंने बताया कि 424 करोड़ की लागत वाले मास्टर प्लान तीन चरणों में प्रस्तावित है । पहले चरण में शेष नेत्र एवं बदरीश झील का सौंदर्यीकरण शामिल है। दूसरे चरण में बदरीनाथ धाम परिसर तथा आसपास के स्थलों का सौंदर्यीकरण व विस्तारीकरण  होना है। तीसरे चरण में शेष नेत्र से बदरीनाथ मंदिर तक आस्थापथ का निर्माण किया जाएगा।

इससे पहले पर्यटन सचिव ने बदरीनाथ मंदिर में दर्शन कर व्यवस्थाओं का भी निरीक्षण किया।

बैठक के पश्चात पर्यटन सचिव ने मंदिर के निकटवर्ती स्थानों नारायण पर्वत, मातामूर्ति मार्ग, ब्रह्मकपाल, तप्तकुंड क्षेत्र, बामणी गांव मार्ग आदि स्थानों का पैदल चलकर अवलोकन किया।

Badrinath dham

इस अवसर पर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी.सिंह, उप जिलाधिकारी अनिल चन्याल,  धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल,बदरीनाथ नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी सुनील पुरोहित, नगर पंचायत अध्यक्ष अरविंद शर्मा, ब्यापार सभा के विनोद नवानी आदि मौजूद रहे।

बीते रविवार 18 अक्टूबर को पर्यटन सचिव ने तुंगनाथ में एशियन डेवलपमेंट बैंक की सहायता से चल रहे  अवस्थापना विकास कार्यों, मंडल में(चमोली) जड़ी-बूटी शोध- विकास संस्थान के कार्यों का भी निरीक्षण किया। सोमवार को बदरीनाथ पहुंचकर बदरीनाथ मास्टर प्लान के संबंध में अधिकारियों से फीडबैक लिया था।

Badrinath dham
बद्रीनाथ महानिर्माण योजना के बारे में बताते हुए पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर

देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि  टिंबरसेण को उत्तराखंड का अमरनाथ कहा जाता है । यहां बाबा अमरनाथ की तरह बर्फ के शिवलिंग के दर्शन होते है। पर्यटन सचिव मलारी घाटी में पर्यटन विकास की संभावनाओं का भी अवलोकन करेंगे ‌।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.