केदारनाथ के 16 बदरीनाथ 19, गंगोत्री 15 व यमुनोत्री के कपाट 16 नवम्बर को बंद होंगे

द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट 19 नवंबर को प्रातः 7  बजे और तृतीय केदार तुंगनाथ के कपाट 4 नवंबर को 11.30 बजे बंद होंगे

अविकल उत्त्तराखण्ड

बदरीनाथ।  बदरीनाथ मंदिर के कपाट 19 नवंबर और केदारनाथ मंदिर के कपाट 16 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे। गंगोत्री मंदिर के कपाट 15 नवंबर व यमुनोत्री मंदिर के कपाट 16 नंवबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे।

Uttarakhand char dham

द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट 19 नवंबर को प्रातः 7  बजे और तृतीय केदार तुंगनाथ के कपाट 4 नवंबर को 11.30 बजे बंद होंगे।

चारधाम तीर्थपुरोहित हक-हकूकधारी महापंचायत के महामंत्री हरीश डिमरी ने बताया कि आज पंचांगोें के अनुसार बदरीनाथ धाम के कपाट बंद करने की तिथि तय की गई। उन्होंने बताया कि 19 नवंबर को शाम 3 बजकर 35 मिनट पर बदरीनाथ मंदिर के कपाट शीताकाल के लिए बंद होंगे। जबंकि, केदारनाथ धाम के कपाट पर्वू की तरह भैयादूज के दिन 16 नवंबर को बंद होंगे।

Uttarakhand char dham

शीतकाल में केदार की पूजा उखीमठ व बद्रीनाथ जी की पूजा जोशीमठ में होती है।

यमुनोत्री मंदिर समिति के पूर्व उपाध्यक्ष पवन उनियाल ने बताया कि गंगोत्री मंदिर के कपाट 15 नवंबर को अन्नकूट के दिन 12 बजकर 35 मिनट पर और यमुनोत्री मंदिर के कपाट 16 नवंबर को भैयादूज के दिन बंद होंगे। शीतकाल में छह माह गंगा जी की मूर्ति मुखबा और यमुना जी की मूर्ति खरसाली मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ रखी जाती है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.