नन्दप्रयाग-घाट सड़क आंदोलन.. हुआ लाठीचार्ज ..पड़ी पानी की बौछार..और मची चीख पुकार,देखें वीडियो

पुलिस के जबर्दस्त लाठीचार्ज में कई महिलाएं व अन्य प्रदर्शनकारी जमीन पर गिरे। लाठियों की रफ्तार दिल दहलाने वाली थी। गैरसैंण के दिवालीखाल में ग्रामीणों पर हुए लाठीचार्ज की विपक्ष ने कड़ी निंदा की है।

अविकल उत्त्तराखण्ड

गैरसैंण/नन्दप्रयाग-घाट। बीते 2 महीने से नंदप्रयाग घाट रोड के चौड़ीकरण को लेकर आंदोलित स्थानीय जनता पर सोमवार को पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी । महिलाओं समेत कईआन्दोलनकारी घायल हुए। लाठियां पड़ने के बाद मची भगदड़ में प्रदर्शनकारी इधर उधर भागते दिखे। महिलाओं समेत कई लोग सड़क पर गिर गए।फिर भी लाठियों की रफ्तार कम नही हुई। घटनास्थल पर पुलिस के लाठीचार्ज से चीख पुकार मच गई। भारी लाठीचार्ज में कई लोगों के घायल होने की खबर है।

एक तरफ गैरसैंण में विधानसभा सत्र की शुरुआत हुई तो दूसरी तरफ स्थानीय आंदोलनकारियों पर पानी की बौछारें और लाठियों की सौगात दी गई । प्रदर्शनकारी इस मार्ग के के चौड़ीकरण को लेकर विधानसभा का घेराव की कोशिश कर रहे थे।बीते 2 महीने से इस बार के निर्माण को लेकर धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं । इसमें बड़ी संख्या में महिलाएं छात्र-छात्राएं वह बच्चे भी शामिल हुए। सोमवार को इन आंदोलनकारियों ने अपने प्रदर्शन को आगे बढ़ाते हुए नारेबाजी शुरू की। दिवालीखाल के पास पुलिस ने बैरिकेडिंग करके रास्ता रोका हुआ था रास्ता रोकने के बाद पुलिस और आंदोलनकारियों के बीच तीखी झड़प हुई।

देखिये ये वीडियो, कैसे भांजी लाठी

इस बीच, पुलिस ने पहले पानी की बौछार से आंदोलनकारियों को तितर-बितर किया और बाद में लाठियां भांजी कई महिलाएं भी इस भगदड़ में घायल हुए। आंदोलनकारी घाट से नन्दप्रयाग तक 19 किमी सड़क के चौड़ीकरण की मांग को लेकर दो महीने से सड़क पर उतरे हुए हैं।

लाठीचार्ज एक कायराना हरकत – हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने गैरसैंण में नंदप्रयाग-घाट सड़़क की माँग कर रहे आंदोलनकारियों पर पुलिस द्वारा की गई बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज की घोर निंदा की है, उन्होंने कहा है कि नंदप्रयाग-घाट क्षेत्र के लोग लम्बे समय से सड़क की माँग को लेकर आंदोलनरत हैं, आंदोलनरत लोगों पर सरकार के इशारे पर पुलिस से बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज कराकर सरकार ने अपनी कायरता का परिचय दिया है, जिसमें कई माताएं बहने भी बुरी तरह घायल हुई हैं, इसकी जितनी भी निंदा की जाय कम है।
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री ने महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण को असत्य बातों का पुलिंदा बताया है, उन्होंने कहा कि भाषण में उल्लेखित तथ्य यथार्थ से मेल नहीं खातें हैं और कांग्रेस विधानमंडल ने राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार कर जनता की भावनाओं को व्यक्त कर उचित कदम उठाया है, कांग्रेस जनभावनाओं के साथ हर पल खड़ी रहेगी।

Pls clik

गैरसैंण बजट सत्र- राज्यपाल का अभिभाषण पूरा पढ़ें

दून के विधानभवन गेट पर ताला जड़ने की कोशिश,पुलिस से तीखी नोक झोंक

Nalanda
Flower

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!