कांग्रेस ने वर्चुअल सम्मेलन में मोदी-त्रिवेंद्र को कोसा

वर्चुअल प्लेटफार्म में साथ साथ नजर आये कांग्रेस दिग्गज

हरीश, इंदिरा, प्रीतम, अनुग्रह, धर्माणी ने किया प्रहार

नैनीताल जिले से वर्चुअल सम्मेलन का आगाज़

अविकल उत्तराखण्ड ब्यूरो

देहरादून 6 अगस्तः उत्तराखण्ड कांग्रेस ने आज से शुरू पहली वर्चुअल सम्मेलन में मोदी व त्रिवेंद्र सरकार को कोसा। जिला स्तरीय वर्चुअल कान्फ्रेंस-कार्यकर्ता संवाद की शुरूआत नैनीताल जनपद से की गई।

प्रदेश काँग्रेस भवन देहरादून में भविष्य का खाका खींचते हुए

कार्यकर्ताओं से हुए संवाद में प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह, नेता प्रतिपक्ष डाॅ इन्दिरा हृदयेश, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा, सहप्रभारी राजेश धर्माणी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्य , हरीश चंद्र दुर्गापाल आदि ने हिस्सा लिया।

नेता विपक्ष डॉ इंदिरा ह्रदयेश

वर्चुअल सम्मेलन की शुरुआत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिह ने कहा कि भाजपा सरकारें कोरोना महामारी से निपटने में पूरी तरह विफल रही हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड पर्यटन आधारित रोजगार ठप पड़ गया है। उन्होने कहा कि प्रवासी नागरिकों के लिए राज्य सरकार के पास ठोस रोजगार की कोई व्यवस्था नहीं है।

पूर्व मुख्यमन्त्री हरीश रावत

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पट  झूठे मुकदमे ठोके जा रहे हैं।

प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि आज भाजपा राम मन्दिर निर्माण का श्रेय लेने की असफल कोशिश कर रही है। जबकि यह फैसला सर्वोच्च न्यायालय का है, कोई भी सरकार सत्ता में होती तो वह भी मन्दिर का निर्माण करवाती।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कोरेन्टाइन केंद्रों की बदहाली व अव्यवस्थाओं के सम्बन्ध में समय-समय पर सरकार को चेताया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा  उत्तराखण्ड का विधानसभा चुनाव मोदी बनाम कांग्रेस बनाना चाहती है। लेकिन पार्टी को चाहिए कि इसे त्रिवेन्द्र सरकार बनाम कांग्रेस बनाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा भूख, बेरोजगारी, मंहगाई से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है परन्तु हमें भाजपा की विफलताओं के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी के शासन में कराये गये विकास कार्यों पर जनता का ध्यान खींचना है।

वर्चुअल सम्मेलन में कांग्रेसी जन

नेता प्रतिपक्ष डाॅ इन्दिरा हृदयेश ने कहा कि पूरे कोरोना काल में राज्य की स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त हो गयी है।  क्वारन्टाइन केंद्रों में गंदगी के अंबार लगे हुए हैं । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रोजगार का कोई रोडमैप तैयार नहीं किया है जिसके कारण आने वाले समय में बेरोजगारी व भुखमरी फैलने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों को तनख्वाह तक नहीं दे पा रही है। उन्होने कहा कि राज्य में लगातार भारी बरसात हो रही है तथा सड़कों का बुरा हाल है।

सहप्रभारी राजेश धर्माणी ने कहा कि कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर जनता के बीच भाजपा सरकारों की विफलताओं को पहुंचाना है।

उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा ने कहा कि कांग्रेस शासन में चलाई गई जिन योजनाओं को ठण्डे बस्ते में डाला है उन्हें लेकर हमें जनता के बीच जाना है।  उन्होंने कहा कि इन्दिरा जी द्वारा स्वीकृत कराये गये हल्द्वानी में प्रस्तावित बस अड्डे के लिए धनराशि स्वीकृत होने के बावजूद सरकार उदासीन बनी है।
उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र में कर्मचारियों व अधिकारियों की कमी से जनता त्रस्त है ।

पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने 10 जिलों में16 राजकीय महाविद्यालय स्वीकृत किये थे जिसे भाजपा सरकार ने सत्ता में आते ही रद्द कर दिया।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने कहा कि हम सडक पर भी उतरेंगे और  संचार तकनीक के माध्यम से कार्यकर्ताओं तक पहुंचने का प्रयास करेंगे।

साथियों से संवाद और 2022 में जीत का संकल्प

जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल एवं महानगर अध्यक्ष राहुल छिमवाल, खष्टी बिष्ट, पुष्कर दुर्गापाल, महेश शर्मा, बीना जोशी, जाकिर हुसैन, बीडी खोलिया, अन्नू आर्य, गुरूप्रीत सिंह, मीनू बिष्ट, भोला दत्त भट्ट, राजेन्द्रसिंह बिष्ट, गुणवन्त सिंह, किरन डालाकोटी,  राजेन्द्र शाह , गरिमा दसौनी, राजेश चमोली ने भी अपनी बात कही।

अंत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सभी नेताओं को अपने विचार रखने के लिए धन्यवाद देने के साथ ही महामंत्री विजय सारस्वत, सोशल मीडिया विभाग के प्रदेश अध्यक्ष अमरजीत सिंह, विशाल मौर्य, विजय रतूडी मोन्टी, कार्तिक चांदना, दीपा खत्री सहित सभी पदाधिकारियों  का वर्चुअल सम्मेलन सफलता पूर्वक आयेाजित करने के लिए धन्यवाद किया।

Uttarakhandnews

2 thoughts on “कांग्रेस ने वर्चुअल सम्मेलन में मोदी-त्रिवेंद्र को कोसा

Leave a Reply

Your email address will not be published.