..जब इंदिरा ने धामी को गैरसैंण में कराया नाश्ता, सदन ने दी श्रद्धांजलि

विधानसभा सत्र के पहले दिन सदस्यों ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि

सदन में स्वर्गीय कल्याण सिंह, डॉ इंदिरा ह्रदयेश, बची सिंह रावत, नरेंद्र सिंह भंडारी, श्रीचन्द, अम्बरीश कुमार व गोपाल रावत के कार्यों व व्यक्तित्व पर डाली रोशनी

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्त्तराखण्ड विधसनसभ के मानसून सत्र के पहले दिन सदन ने स्वर्गीय कल्याण सिंह,डॉ इंदिरा ह्रदयेश, बची सिंह रावत, नरेंद्र सिंह, भण्डारी अम्बरीश कुमार, गोपाल रावत व श्रीचन्द को याद करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

11 बजे विधानसभा सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता व विपक्ष के सदस्यों ने सभी दिवंगत नेताओं के कार्यों व व्यवहार को गिनाते हुए उनके परिजनों के प्रति गहरी संवेदना जतायी।

नेता सदन व सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उन्होंने इन सभी नेताओं की कार्यशैली से बहुत कुछ सीखा। उन्होंने कहा कि इंदिरा ह्रदयेश का संसदीय अनुभव व वाकपटुता हम सभी के लिए एक मिसाल रही। सीएम धामी ने कहा कि अक्सर पद व रसूख मिलने के बाद नेताओं के व्यवहार में परिवर्तन आ जाता है लेकिन इंदिरा जी के व्यवहार में कभी कोई बदलाव नहीं दिखा।

अपने संस्मरण सुनाते हुए सीएम ने कहा कि विपक्ष में रहते हुए भी इंदिरा जी ने हम सभी को पूरा सम्मान दिया। कहती थीं कि धामी तुम सरकार के पुतले जलाते हो और काम भी करवाते हो। इंदिरा जी नये विधायकों को सिखाती भी थी। उन्हें विधायी कार्यों व नियमों की जबरदस्त जानकारी थी।

..जब इंदिरा जी ने पुष्कर धामी व यतीश्वरानंद को ब्रेड व बिस्कुट का नाश्ता कराया

सीएम धामी ने मार्च 21 में गैरसैंण हुए सत्र की यादें भी सदन से साझा की। उन्होंने कहा कि एक बार भूख लगने पर वह विधायक यतीश्वरानंद के साथ उनके कक्ष में गए थे। सुबह से कुछ नहीं खाया था। इंदिरा जी ने अपने हाथों से ब्रेड व बिस्कुट परोस कर उन्हें खिलाया। उनके जाने से एक खालीपन महसूस हो रहा है।

सीएम धामी ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश विधानपरिषद में सर्वाधिक मतों से जीतने वाली महिला बनी। यह रिकॉर्ड आज भी कायम है।लग ही नहीं रहा कि वो आज हमारे बीच में नहीं है। राजनीति में उनका लंबा कालखंड रहा है। नौजवानों को उनसे सीख लेनी चाहिए।

सीएम धामी ने कहा कि उत्तरप्रदेश के सीएम रहे कल्याण सिंह ने हमेशा अपने पद व गरिमा के अनुसार व्यवहार किया। छात्र जीवन से ही कल्याण सिंह जी से मिलने का अवसर मिलता रहा। उन्होंने अपराध व भ्र्ष्टाचार मुक्त शहसँ की स्थापना की। राम मंदिर निर्माण के लिए उनकी की गई कोशिशों के बाद ही आज पीएम मोदी के नेतृत्व में भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हो पाया है।

सीएम धामी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे बच्ची सिंह रावत को सरल व्यक्तित्व करार दिया। सभी दल उनका विशेष सम्मान करते थे। वे राजनीति के अजात शत्रु थे। बड़े पदों पर रहते हुए भी उनकी सादगी व सरलता बरकरार रही।

पूर्व शिक्षा मंत्री नरेंद्र सिंह भंडारी हमेशा समाज कल्याण में जुटे रहे। यूपी विधानसभा के सदस्य रहे नरेंद्र सिंह भंडारी ने बतौर विधायक उत्तर प्रदेश व उत्त्तराखण्ड में विशेष छाप छोड़ी।

सीएम ने कहा कि गंगोत्री सेविधायक रहे गोपाल रावत उन्हें छोटे भाई की तरह स्नेह देते थे।  90 के दशक में गोपाल रावत ने छात्र संघ में दमदार मौजूदगी दर्ज कराई। 94 के उत्त्तराखण्ड आंदोलन में जेल भी गए।

स्वर्गीय अम्बरीश कुमार ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक का खिताब हासिल किया। अम्बरीश जी ने सभी वर्गों की समस्या के लिए संघर्ष किया। और अपने इलाके के लिए कई विकास कार्य किये।

नेता सदन धामी व नेता विपक्ष प्रीतम सिंह

श्रद्धांजलि के क्रम में सीएम धामी ने उत्तर प्रदेश में मंत्री रहे श्रीचन्द के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि राजनीति में ईमानदारी व सादगी की मिसाल थे। बहुत ही सादगी से जीवन व्यतीत किया।

नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने सभी दिवंगत नेताओं की सरलता व राज्य के विकास में कार्यों को गिनाते हुए श्रद्धांजलि दी। सत्र के पहले दिन सदन में मौजूद मंत्री व विधायकों ने अपने संस्मरण  सुनाते हुए दिवंगत नेताओं के कार्यों को याद करते हुए श्रद्धांसुमन अर्पित किए।

इसए दौरान पूर्व सीएम कल्याण सिंह व  पर्यावरणविद व पद्मश्री सुंदरलाल बहुगुणा का विधसनसभा की गैलरी में लगे चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।

देहरादून।विधानसभा भवन स्थित विधानसभा अध्यक्ष के कार्यालय कक्ष में सत्र के प्रथम दिवस पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।इस अवसर पर कल्याण सिंह जी के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धासुमन अर्पित किये गये।

श्रद्धांजलि देने वालों में उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री यतिस्वरानंद, कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, विधायक देशराज कर्णवाल, विधायक संजय गुप्ता, विधायक राजकुमार ठुकराल सहित अन्य ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।


          इस अवसर पर  अग्रवाल ने कहा कि कल्याण सिंह जी के निधन से देश ने आज एक सच्चे राष्ट्रभक्त, ईमानदार व धर्मनिष्ठ राजनेता को खो दिया। उन्होंने कहा बाबूजी एक ऐसे विराट वटवृक्ष थे, जिनकी छाया में भाजपा का संगठन पनपा व उसका विस्तार हुआ। राष्ट्र व श्रीराम की सेवा के पुनीत कार्यों के लिए उन्हें  हमेशा याद किए जाएंगे। अग्रवाल ने कहा कि बाबूजी के निधन से आई रिक्तता की भरपाई लगभग असंभव है। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कल्याण सिंह के साथ जुड़े उनके संस्मरण भी साझा किए।

Pls clik

कल्याण सिंह के 6 दिसंबर के उस आदेश से पुलिस को मिली आक्सीजन

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!