#

1991 की उत्तरकाशी भूकंप त्रासदी पर आधारित फिल्म ‘चक्रचाल’ की दास्तान

किए कई जतन, तब दिखी चक्रचाल में भूकंप की तबाही

विपिन बनियाल/अविकल उत्तराखण्ड


-20 अक्टूबर 1991 की वह काली तारीख कोई नहीं भूल सकता, जबकि उत्तरकाशी में भूकंप की त्रासदी ने जान-माल का बड़ा नुकसान कर दिया। उत्तरकाशी भूकंप की त्रासदी और इससे उपजा दर्द हमारे जेहन में आज भी ताजा है। इस त्रासदी पर कई गाने बने हैं और फिल्में भी बनी हैं।

उत्तरकाशी के भूकंप की त्रासदी पर आधारित जिस उत्तराखंडी फिल्म को बहुत पसंद किया गया, वह फिल्म वर्ष 1997 में आई थी और इसका नाम था चक्रचाल। इस फिल्म में भूकंप के दृश्यों को फिल्माने की बड़ी चुनौती सामने थी, जबकि फिल्म बनाने वालों के पास संसाधन बेहद सीमित थे। इसके बावजूद, पर्दे पर भूकंप से तबाही के दृश्य दिखाई दिए। फिल्म की पूरी टीम के समर्पण ने यह सब संभव कर दिखाया।

देखें, वीडियो में पूरी कहानी


चक्रचाल फिल्म के निर्माता नरेंद्र कुमार ने निर्देशक नरेश खन्ना के साथ मिलकर भूकंप की त्रासदी और इसके दारूण दुःख को पर्दे पर बखूबी पेश किया। हालांकि इस फिल्म में लोक जीवन के कई रंग भी दिखाई दिए। चक्रचाल की सफलता में एक बार फिर नरेंद्र सिंह नेगी के गीत-संगीत और गायिकी के जलवे को साबित किया। फिल्म का गीत-संगीत सुपरहिट रहा।

इससे पहले, घरजवैं, कौथिग, बंटवारों जैसी फिल्म में भी नरेंद्र सिंह नेगी के गाने धूम मचा चुके थे। फिल्म के सारे गीत सुपरहिट साबित हुए, जिनमे नेगी दा का खुद का स्वर तो था ही, साथ ही अनुराधा निराला और बॉलीवुड की मशहूर गायिका पूर्णिमा की आवाज का भी इस्तेमाल किया गया था।


चक्रचाल भूूकंप त्रासदी की जिस थीम पर बनी थी, उसके सीन फिल्माने की चुनौती सबसे बड़ी थी। उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा के इतिहास में उत्तरकाशी की यह भूकंप त्रासदी प्रमुख रूप से दर्ज है। ऐसे में यह स्वाभाविक प्रश्न सामने था कि किस तरह से इस त्रासदी को फिल्मी पर्दे पर उतारा जाए, ताकि सब कुछ असरदार दिखाई दे। एक तरफ, सीमित संसाधन और दूसरी तरफ, असीमित चुनौती।

ऐसे में फिल्म से जुडे़ लोगों ने जो सोचा था, ठीक वैसा तो नहीं हो पाया, लेकिन फिर भी घरों के छोटे-छोटे मॉडल तैयार करके भूकंप की तबाही को पर्दे पर असरदार तरीके से फिल्माने में सफलता मिल गई।

फिल्म के हीरो बलदेव राणा के अनुसार, फिल्म के छोटे से लेकर बडे़ कलाकार और यूनिट के अन्य सभी सदस्यों ने इन दृश्यों को फिल्माने में जी-जान लगाकर काम किया और उसके अच्छे नतीजे सामने आए। चक्रचाल की पूरी कहानी यू ट्यूब चैनल धुन पहाड़ की के ताजा वीडियो में दी गई है। इसे आप विस्तार से वहां पर देख सकते हैं।

Pls clik

‘जग्वाल’ के ठीक बाद ‘हीरो’ के गाने से अनुराधा ने पकड़ ली थी रफ्तार

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *