zydex

ग्राफिक एरा डीम्ड चार जनवरी से और हिल 11 से खुलेगी.कोविड 19 का पालन

ग्राफिक एरा की चार चरणों में प्रैक्टिकल क्लास शुरू करने की घोषणा
पहले सीनियर छात्र-छात्राओं के लिए खुलेगी यूनिवर्सिटी

• छात्र-छात्राओं के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य
• छात्र-छात्राओं के लिए बस सेवा शुरू करने का ऐलान
• कोविड से बचाव के निर्देशों का पालन जरूरी
• अभिभावकों का सहमति पत्र साथ लाना होगा

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्तराखंड में प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों के सबसे ज्यादा 20 हजार छात्र छात्राओं वाले ग्राफिक एरा ने कक्षाएं खोलने के प्रोग्राम की घोषणा कर दी है। ग्राफिक एरा को चार चरणों में खोलने की घोषणा की गई है। इन चारों चरणों में प्रैक्टिकल वाले विषय पढ़ाये जाएंगे।

Grafic era doon

ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी चार जनवरी से और ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के देहरादून, भीमताल व हल्द्वानी कैम्पस 11 जनवरी से प्रथम चरण में इंजीनियरिंग के सीनियर छात्र छात्राओं के लिए खोले जाएंगे। कोविड 19 के मद्देनजर ग्राफिक एरा ने छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन पढ़ायी जारी रखने का विकल्प भी दिया है।

ग्राफिक एरा एजुकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला ने कहा कि हमारे लिए छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य और भविष्य दोनों बहुत महत्वपूर्ण हैं। कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए केंद्र और राज्य सरकार की एसओपी का पूरी सख्ती के साथ पालन करने के साथ ही छात्र-छात्राओं को कुशल प्रोफेशनल बनाने के लिए आवश्यक प्रयोगात्मक प्रशिक्षण देने के लिए ये कदम उठाये गये हैं।

Grafic era doon

डॉ. घनशाला ने कहा कि कोविड 19 के दौर में जब दुनिया में सब कुछ ठहर गया था, तब भी ग्राफिक एरा के छात्र-छात्राओं ने लगातार अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की कम्पनियों में शानदार प्लेसमेंट पाकर जिस प्रतिभा और प्रोफेशनल कुशलता का परिचय दिया है, उसका मुख्य कारण दुनिया की नई टेक्नोलॉजी और विश्व स्तरीय प्रयोगशालाएं हैं, कोविड से बचाव के लिए सभी आवश्यक कदम उठाते हुए छात्र-छात्राओं का भविष्य संवारने के लिए प्रैक्टिकल शुरू किए जा रहे हैं।

Grafic era doon
ग्राफिक एरा एजुकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला

ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. राकेश कुमार शर्मा ने बताया कि डीम्ड यूनिवर्सिटी में पहले चरण में चार जनवरी से इंजीनियरिंग के सभी पाठ्यक्रमों के  सीनियर छात्र-छात्राओं को प्रयोगात्मक कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। इसके साथ ही थ्योरी की कक्षाएं ऑनलाइन जारी रहेंगी। प्रैक्टिकल कक्षाओं के लिए भी छात्र-छात्राओं को ऑफ्शन दिया गया है, जो छात्र-छात्राएं फिलहाल इन क्लासों में नहीं आना चाहते, वे ऑनलाइन थ्योरी क्लास जारी रख सकते हैं।

इंजीनियरिंग के अलावा प्रैक्टिकल विषयों वाले दूसरे सभी पाठ्यक्रमों के छात्र-छात्राओं की प्रयोगात्मक कक्षाएं 11 जनवरी से शुरू करने का निर्णय किया गया है। इन कक्षाओं के लिए भी छात्र-छात्राओं को विकल्प दिए गये हैं। वे चाहें तो प्रेक्टिकल क्लास में न आने का विकल्प दे सकते हैं।
कुलपति डॉ. शर्मा ने बताया कि तीसरे चरण में ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी में 18 जनवरी से प्रथम वर्ष के सभी विषयों की प्रैक्टिकल क्लास शुरू हो जाएंगी। इनके लिए भी छात्र-छात्राओं को विकल्प चुनने का अधिकार दिया गया है।

ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. संजय जसोला ने बताया कि इंजीनियरिंग के सीनियर छात्र-छात्राओं की प्रैक्टिकल कक्षाएं विश्वविद्यालय के देहरादून, भीमताल और हल्द्वानी परिसर में 11 जनवरी से शुरू की जाएंगी। अन्य सभी पाठ्यक्रमों के सीनियर छात्र छात्राओं की प्रयोगात्मक कक्षाएं 18 जनवरी से शुरू होंगी। तीसरे चरण में 20 जनवरी से इंजीनियरिंग समेत सभी कोर्स के प्रथम वर्ष के छात्र छात्राओं की प्रैक्टिकल क्लास शुरू कर दी जाएंगी।

ग्राफिक एरा  कोविड 19 से बचाव के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी सभी दिशा निर्देशों का पालन अनिवार्य होगा। छात्र-छात्राओं को कोरोना के टेस्ट आरटी-पीसीआर में निगेटिव पाये जाने पर ही हौस्टल और परिसर में प्रवेश दिया जाएगा। यूनिवर्सिटी आने वाले सभी छात्र-छात्राओं को निर्धारित प्रारूप में अपने अभिभावक से कोविड संबंधी सरकारी दिशा निर्देशों के पालन संबंधी सहमति पत्र हस्ताक्षर कराकर लाना होगा। छात्र-छात्राओं के लिए मास्क पहनना, सैनेटाइजर का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना आवश्यक होगा । यूनिवर्सिटी में थर्मल स्कैनिंग, सैनेटाइजिंग आदि की समुचित व्यवस्था की गई है। निर्धारित मार्गों पर बसों का संचालन भी उपरोक्त चरणों के अनुरूप शुरू किया जा रहा है।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *