zydex

इंटरनेशनल एजुकेशनल कॉन्फ्रेंस में ऑनलाइन व आफ लाइन शिक्षण पर मंथन

इंटरनेशनल एजुकेशनल कॉन्फ्रेंस में डॉ सुनील अग्रवाल सम्मानित

अविकल उत्तराखंड

दिल्ली । स्थानीय होटल में इंटरनेशनल एजुकेशनल कॉन्फ्रेंस का आयोजन हुआ जिसमें विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।कॉन्फ्रेंस में डॉ सुनील अग्रवाल को उनके शिक्षा के क्षेत्र में दिए गए योगदान के लिए इनोवेटिव एजुकेशनल लीडर के अवार्ड से सम्मानित किया गया। 

विशिष्ट अतिथि व एसोसिएशन ऑफ सेल्फ फाइनेंस इंस्टिट्यूट उत्तराखंड के अध्यक्ष डॉ सुनील अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान में शिक्षा के सामने बहुत सी चुनौतियां हैं कोरोना के समय पूरे विश्व में बंदी के चलते शिक्षा क्षेत्र को गंभीर नुकसान पहुंचा।

देश में भी आपातकालीन परिस्थितियों में ऑनलाइन शिक्षा लागू हुई लेकिन उसके लिए देश तैयार नहीं था। वर्तमान में भविष्य की चुनौतियों को देखते हुए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही पद्धतियों से शिक्षण कार्य आवश्यक है। विशेष परिस्थितियों में ही ऑनलाइन शिक्षा का उपयोग किया जा सकता है। सामान्य परिस्थितियों में छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु क्लासरूम शिक्षा ही बेहतर है ।

उन्होंने कॉन्फ्रेंस में उपस्थित शिक्षकों का आह्वान किया कि भविष्य के चुनौतियों को देखते हुए अपने आप को अपडेट रखें क्योंकि शिक्षक का छात्रों के व्यक्तित्व विकास और किसी भी देश के उत्थान के लिए विशेष योगदान होता है।

विश्व में परिस्थितियां बहुत तेजी से बदल रही है बदलती हुई परिस्थितियों के अनुरूप शिक्षकों को अपने आप को अपडेट करते रहना चाहिए नई नई टेक्नोलॉजी को सीख कर नए नए प्रयोग करने आवश्यक हैं

डॉ सुनील अग्रवाल का इससे पूर्व भी कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। कार्यक्रम में उपस्थित आयोजकों ने डॉ सुनील अग्रवाल के शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यों की प्रशंसा की । कॉन्फ्रेंस में रिपब्लिक ऑफ़ चाड कि राजदूत कैथरीन, हाउ आर रोबोटिक्स के फाउंडर डॉक्टर मनीष जिंदल, पूर्व आईएएस अधिकारी तीरथ राम काइट्स क्राफ्ट प्रोडक्शन के डायरेक्टर जिओ बॉबी, नैंसी जुनेजा, वर्षा अग्रवाल ,सुनिधि शर्मा सहित अतिथियों ने संबोधित किया।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *