भरोसा के बाद आईटीआई संघ का आंदोलन वापस, वाजिद मर्डर के आरोपी बंदी

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। शासन से मिले आश्वासन के बाद उत्त्तराखण्ड आईटीआई संघ ने अपना आंदोलन वापस ले लिया।
कोविड 19 की आड़ में किए गए कार्मिक  विरोधी आदेशों के विरोध में 29 सितम्बर से आईटीआई कर्मी आन्दोलित थे।

Iti agitation

सोमवार को सचिव, कौशल विकास एवं सेवायोजन डा रंजीत सिन्हां से हुई वार्ता के बाद कार्यकारिणीं की सर्वसम्मत राय से 14 अक्टूबर से चरणबद्ध आन्दोलन को वापस लेने की घोषणा की गयी।

संघ द्वारा स्पष्ट किया गया है, कि उक्त आन्दोलन में प्रतिभाग कर रहे किसी भी कार्मिक के विरुद्ध उत्पीड़ात्मक कार्यवाही किए जाने अथवा लिखित सहमति के उपरातं भी मांगों को पूरी करने में आनाकानी किए जाने  की दशा में संघ पुनः आन्दोलन करने को बाध्य होगा  ।

Iti agitation

सचिव महोदय स्तर से जारी कार्यवृत्त के क्रम में संघ की 6 में से 5 मांगों पर पूर्ण सहमति व्यक्त की गई।

इन मुद्दों पर बनी सहमति

1. कार्यदेशक, प्रधनाचार्य  के रिक्त पदों पर अधियाचन विभाग से शासन में पहुँचने के 7 दिनों के भीतर लोक सेवा आयोग को भेज दिया जाएगा । भण्डारी संवर्ग की पदोन्नति की कार्यवाही 15 दिनों में की जाएगी ।

2. सत्रांत लाभ के शासनादेश का परीक्षण कर निदेशक को अधिकार दिए जाएंगे ।

संघ अध्यक्ष आरपी जोशी

3. विभागीय पुनर्गठन में पदों को अंतिम रुप दिए जाने के समय संघ के पदाधिकारियों से भी वार्ता की जाएगी । संचालित एवं असंचालित सभी संस्थानों में पद रखे जाएंगे ।

4. गूगल शीट भरे जाने के आदेश पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई गई है ।

5. मृतक आश्रितों के दो प्रकरणों पर कार्यवाही कर दी गई है, अन्य प्रकरण भी तत्काल निपटाए जाएंगे ।
एक अन्य मांग –  “एसीआर के प्रारुप के सम्बन्ध में” जिस पर संघ की मांग के अनुरुप सहमति नहीं बन पाई है, उक्त के सम्बन्ध में संघ द्वारा सचिव महोदय को स्पष्ट कर दिया गया है कि कार्यदेशक, अनुदेशक व भण्डारी संवर्ग के द्वारा उत्तराखण्ड कार्मिक विभाग के इतर जारी प्रारुप पर स्वमूल्यांकन आख्या नहीं भरी जाएगी। इसका संघ लगातार पुरजोर विरोध करेगा । सचिव महोदय द्वारा कार्मिक विभाग से तत्काल पत्रावली मंगाकर प्रस्तुत किये जाने हेतु निदेशक महोदय को निर्देशित किया गया है ।

वाजिद हत्याकांड के चार और आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने घटना में प्रयुक्त डंडा और रोड किया बरामद


विकासनगर। विकासनगर पुलिस ने चार फरार हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त डंडा और रॉड भी बरामद कर लिया।

बरोटीवाला निवासी इमराना पत्नी इनाम ने 9 अक्टूबर को थाना विकासनगर में तहरीर देकर बताया कि अफजाल पुत्र निसार अहमद निवासी बुलाकीवाला, क्रांति सिंह पुत्र हाकम सिंह निवासी खेड़ा बरोटीवाला तथा उनके दोस्तों ने विकासनगर में खेड़ा इंटर कॉलेज के पास उसके बेटे वाजिद को मारपीट कर गम्भीर रूप से घायल कर दिया।

Uttarakhand crime

पुलिस ने महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर उसी दिन अफजाल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

मामले की विवेचना के दौरान घायल वाजिद की मौत हो गई थी। इस पर पुलिस ने आरोपियों पर एक और धारा 302 भी लगा दी और कांति सिंह को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

घटना में संलिप्त चार अन्य आरोपियों को भी पुलिस ने मंगलवार को बुलाकीवाला से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपियों में आजाद उर्फ मोनी पुत्र आबिद, मोहसीन पुत्र निसार अहमद, फैजान पुत्र निसार अहमद और साद आलम पुत्र नसीम अहमद को भी गिरफतार कर लिया है। चारों बुलाकीवाला के रहने वाले है। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त डंडा और रोड भी बरामद कर लिया।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.