UttarakhandDIPR

उत्तराखंड में प्रदर्शनकारियों पर पड़ी लाठियां, पुलिस ने अपनाया सख्त रवैया

प्रदेश के कई हिस्सों में प्रदर्शन जारी, वेरोजगार युवाओं पर मुकदमे दर्ज, डीजी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से निपटने को दिए कड़े निर्देश

अविकल उत्तराखंड

देहरादून। उत्तराखंड में भी अन्य राज्यों की तरह केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का विरोध तेजी से बढ़ने लगा है। धामी सरकार के लिए युवाओं के आक्रोश को थामना मुख्य चुनौती देखी जा रही है। पुलिस-प्रशासन की लगातार हो रही बैठक में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्ती बरतने के संकेत मिल रहे हैं। इस बीच, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस भी अग्निपथ योजना को युवाओं के साथ छलावा बताते हुए विरोध में उतर आई है।

इधर, देहरादून,  हल्द्वानी, कोटद्वार, टनकपुर, चम्पावत समेत कई अन्य इलाकों में युवाओं ने प्रदर्शन लगातार जारी हैं। हल्द्वानी में पुलिस ने बेरोजगार युवाओं पर जमकर लाठी बरसाई। इस पुलिस लाठीचार्ज का वीडियो तेजी से वॉयरल हो रहा है। हल्द्वानी में हाथ में तिरंगा लिए प्रदर्शनकारी युवाओं के तिकोनिया चौराहे पर जाम लगाने पर पुलिस ने बेरोजगारों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। कई प्रदर्शनकारी घायल भी हुए। प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए कई जगह भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

कई जगह जाम लगने की भी खबर है। प्रदर्शनकारियों ने जगह जगह केंद्र सरकार के पुतले भी फूंके। प्रशासन ने NH जाम कर रहे नामजद/अज्ञात युवाओं पर मुकदमे भी ठोक दिए हैं। प्रशासन जगह जगह ड्रोन से भी नजर रख रहा है।

पुलिस अलर्ट, अधिकारियों को मिले ये निर्देश

अग्निपथ योजना के बाद हुए बवाल को देखते हुए पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने  वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश में शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए।

अशोक कुमार ने समस्त जनपद प्रभारियों को अलर्ट रहने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कोचिंग सेन्टर संचालकों एवं प्रदर्शनकारी युवाओं से वार्ता करें और यह सुनिश्चित कर लें कि किसी भी स्थिति में शान्ति एवं कानून व्यवस्था प्रभावित न हो। प्रदेश में किसी भी कीमत पर माहौल नहीं बिगड़ने दिया जाएगा। यदि कोई व्यक्ति असंवैधानिक तरीके से विरोध प्रदर्शन करके शान्ति एवं कानून व्यवस्था प्रभावित करता है, तो उसके विरूद्ध सख्त वैधानिक कार्यवाही की जाये।

बैठक में विभिन्न बिन्दुओं पर विचार विर्मश कर निम्न निर्देश दिये गयेः-

1. अपने-अपने जिला मजिस्ट्रेटों के साथ समन्वय स्थापित करते हुये सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त करा लिये जाये तथा समय से आवश्यक पुलिस प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाये।
2. देश के अन्य राज्यों में होने वाली प्रतिक्रियाओं पर सतर्क दृष्टि रखते हुए राज्य में इसका प्रभाव न पड़ने दिया जाये ।
3. जनपद क्षेत्रान्तर्गत जिला मुख्यालयों, महत्वपूर्ण संस्थानों, राष्ट्रीय राजमार्ग, रेल मार्ग, रेलवे स्टेशनों, बस अड्डो, बाजारों, भीड-भाड वाले स्थलों एवं महत्वपूर्ण स्थलों आदि पर आवश्यकतानुसार पुलिस/पीएसी बल को दंगा नियंत्रण उपकरणों, टियर गैस आदि के साथ नियुक्त किया जाये।
4. यातायात को सुचारु रुप से संचालित कराये जाने हेतु पूर्व से एक कार्ययोजना तैयार कर ली जाये तथा आवश्यकतानुसार उसका उपयोग किया जाये ।

5. जनपद प्रभारी स्वयं भी लगातार सतर्क दृष्टि रखते हुये छोटी से छोटी घटनाओं पर नियमानुसार कार्यवाही कराते हुए कार्यक्रमों की फोटोग्राफी एवं वीडियोग्राफी अवश्य कराएं।

6. जनपद में स्थापित सोशल मीडिया मॉनीटरिंग सैल, सोशल मीडिया प्रमोशन सैल एवं साईबर सैल के माध्यम से सोशल मीडिया पर प्रसारित होने वाली खबरों पर भी सतर्क दृष्टि रखें और तत्काल उनका खण्डन कराते हुए सम्बन्धित व्यक्तियों के विरूद्ध नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये।

इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक अभिसूचना एवं सुरक्षा-  ए पी अंशुमान, पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र – करन सिंह नगन्याल, पुलिस उप महानिरीक्षक, पी/एम-  सेंथिल अबुदेई कृष्ण राज एस, पुलिस उप महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था- कु0 पी0 रेणुका सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

Pls clik

विद्यालयों में गर्मियों की छुट्टी घोषित,देखें आदेश

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!