हरक प्रकरण- गणेश ने बुलाया लेकिन हरीश ने अटकाया

तो बुधवार की दोपहर हरक की कांग्रेस में होगी वापसी

48 घण्टे से आउटर पर खड़ी है हरक की गाड़ी

अब हरक वापसी को लेकर बुधवार पर टिकी निगाहें

अविकल उत्त्तराखण्ड

नई दिल्ली। भाजपा के पूर्व मंत्री हरक सिंह की गाड़ी बीते 48 घण्टे से आउटर पर खड़ी है लेकिन  दस जनपथ का ग्रीन सिग्नल मंगलवार को भी नहीं मिला। नतीजतन , हरक सिंह के कांग्रेस में शामिल होने की खबर का इंतजार और लंबा होता चला गया। दिल्ली से लेकर उत्त्तराखण्ड तक हरक को शामिल कराने व रोकने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष गोदियाल-प्रीतम व हरीश रावत की कोशिशें अलग अलग दिशा में चलती दिखाई दी। लेकिन देर रात खबर आयी कि अब बुधवार की दोपहर हरक सिंह को कांग्रेस में शामिल करा लिया जाएगा।

हरक मुद्दे पर सुर अलग अलग

16 जनवरी की रात से शुरू हुआ हरक एपिसोड 18 जनवरी की रात तक भी चर्चा व कयासबाजी के केंद्र में रहा। मंगलवार के पूरे दिन इसी बात का इंतजार होता रहा कि जब सब कुछ बात पहले हो चुकी थी तो अब कांग्रेस में शामिल कराने पर यह देरी क्यों।

उधर, 2016 में घायल हुए पूर्व सीएम हरीश रावत व उनके समर्थक हरक की वापसी को लेकर कड़े बयान देते नजर आए। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक हरीश समर्थकों के एक ही सुर से भी उलझन बढ़ती चली गयी। चोट खाये हरीश का हरक की वापसी पर कड़ा स्टैंड भी तर्कों की कसौटी पर कसा गया।

इस बीच, हरक सिंह के सवाल पर पूर्व सीएम हरीश रावत और प्रदेशाध्यक्ष गणेश गोदियाल के सुर भी काफी अलग अलग दिखाई दिए। गोदियाल का कहना है कि हरक सिंह रावत को पार्टी में शामिल कराने से कुछ विधानसभा सीटों पर नये सिरे से विचार चल रहा है। हाईकमान इन सभी बातों पर मंथन के बाद हरक सिंह के बारे में फैसला लेगा।

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल की विशेष पहल पर ही हरक की कांग्रेस में वापसी की स्क्रिप्ट लिखी गयी। और गोदियाल की इस पहल के बाद ही हरक को दिल्ली बुलाया गया। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह को भी हरक के दिल्ली आने की खबर बाद में पता चली।यह बात दीगर है कि केंद्रीय नेतृत्व ने प्रीतम सिंह व गोदियाल को दिल्ली में ही रुकने को कहा है।

इंतजार बढ़ा

मंगलवार को भी हरक की गाड़ी कांग्रेस के प्लेटफार्म पर खड़ी नहीं हो पायी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि हाईकमान अन्य राज्यों के टिकट पर मन्थन कर रहा है। लिहाजा, बुधवार को शामिल करा लिया जाएगा।

उधर, हरक सिंह व हरीश के बीच माफी माफी को लेकर भी दिन भर अफवाहें तैरती रही। बहरहाल, कांग्रेस गली के बाहर खड़े बल्लेबाज हरक सिंह को अभी तक बैटिंग करने का मौका नहीँ मिला। कांग्रेस खेमे में यह चर्चा भी आम रही कि गणेश गोदियाल ने हरक सिंह को दिल्ली बुलाया और हरीश रावत ने अटकाया…देर रात माफी किस्से के सुखद अंत के संकेत मिले। अब बुधवार को हरीश की नाराजगी के बावजूद हरक को दस जनपथ का ग्रीन सिग्नल मिलते ही चुनावी व कांग्रेस की हलचल कई गुना बढ़ जाएगी।

Pls clik

देश के सर्वश्रेष्ठ पुलिस प्रशिक्षण संस्थान का तमगा उत्त्तराखण्ड को मिला

Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.