UttarakhandDIPR

अवैध निर्माण व गतिविधियों पर भाजपा सख्त एक्शन लेगी- धामी

नई दिल्ली में आयोजित ‘अमृत रत्न” कार्यक्रम में सीएम धामी ने कहा, पीएम मोदी के नेतृत्व में गैरसैंण व चारधाम का हो रहा है विकास

समान नागरिक संहिता की ड्राफ्टिंग कमेटी की दिल्ली में हुई बैठक

अविकल उत्तराखंड

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में एक चैनल की ओर से आयोजित ‘अमृत रत्न’ कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए कहा कि गैरसैंण का नियोजित विकास किया जा रहा है। अवैध निर्माण, अवैध गतिविधियों पर भाजपा सरकार सख्त कार्यवाही करेगी।  और प्रधानमंत्री मोदी  के निर्देशन में राज्य सरकार अनेकों महत्वपूर्ण योजनाओं पर काम कर रही हैं।

मुख्यमंत्री ने गैरसैंण के मसले पर कहा कि भाजपा सरकार ने गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया है। ग़ैरसैण हमारी संभावना और भावनाओं का केंद्र बिंदु है यहाँ का विकास सिलसिलेवार तरीके से किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने अग्निपथ मसले पर कहा कि उत्तराखंड का हर परिवार सेना से जुड़ा हुआ है। अग्निपथ योजना का उत्तराखण्ड ने स्वागत किया है। उत्तराखण्ड में कोटद्वार और पिथौरागढ़ में भर्ती परीक्षा आयोजित होने जा रही है जिसमें हजारों की संख्या में युवा हिस्सा लेंगे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड में कनेक्टीविटी में बहुत तेजी से काम हो रहा है। सड़क मार्ग से देहरादून से दिल्ली अधिकतम 4 घंटे में पहुंच रहे हैं। एलिवेटेड रोड बनने के बाद केवल 2 घंटे में ये सफर पूरा हो जाएगा। 

यूनिफार्म सिविल कोड पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड धर्म, संस्कृति और अध्यात्म का केंद्र है। सबके लिये एक समान कानून हो। हमारा संकल्प है कि हम इसे लागू करेंगें। सबका साथ, सबका विकास, सबका प्रयास पर हम काम कर रहे हैं। अवैध निर्माण, अवैध गतिविधियों पर हमारी सरकार सख्त कार्यवाही करेगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि खटीमा से उनका केवल हार जीत का रिश्ता नहीं है। खटीमा से ही पहले विधायक बने थे। उनके हर आशीर्वाद को शिरोधार्य किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने संकल्प लिया है कि वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में आदर्श राज्य बनाएंगे। इसके लिये केवल एक दो विधानसभा में काम करने से नहीं होगा, बल्कि पूरे उत्तराखण्ड का विकास करना होगा। हम प्रदेश में इकोनोमी और इकोलोजी दोनों को साथ लेते हुए काम कर रहे हैं।

डबल इंजन से राज्य को क्या फायदा हुआ, इस बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार जानती है कि उत्तराखण्ड की क्या आवश्यकताएं है। हमारी जो भी जरूरतें हैं, उन पर केंद्र सरकार काम करती है। पिछले 5-6 वर्षों में उत्तराखण्ड में 1 लाख 50 हजार करोड़ से अधिक की योजनाएं स्वीकृत हुईं।

सीएम ने कहा कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना, एम्स ऋषिकेश, चारधाम सड़क परियोजना, सड़क की बेहतर  कनेक्टीवीटी आदि काम डबल इंजन से ही सम्भव हुआ है। 2014 के बाद पूरे देश में नया वर्क कल्चर आया है। उसका प्रभाव उत्तराखण्ड में भी देखने को मिल रहा है। उत्तराखण्ड का विकास तेजी से हो रहा है, इसमें केंद्र से पूरा सहयोग मिल रहा है। ऋषिकेश एम्स में हजारों लोगों को स्तरीय इलाज की सुविधा मिल रही है। ऊधमिंहनगर में इसका सैटेलाइट सेंटर बनने जा रहा है।

उत्तराखण्ड राज्य में समान नागरिक संहिता के ड्राफ्ट के लिए गठित विशेषज्ञ समिति की तीसरी बैठक नई दिल्ली स्थित उत्तराखण्ड सदन में हुई । मा0 न्यायाधीश (सेवानिवृत) श्रीमती रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता में सम्पन्न बैठक में समिति के सदस्य मा० न्यायाधीश (सेवानिवृत) प्रमोद कोहली, शत्रुघ्न सिंह, आई०ए०एस० (सेवानिवृत), श्रीमती सुरेखा डंगवाल, कुलपति दून विश्वविद्यालय, मनु गौर, सामाजिक कार्यकर्ता और सदस्य सचिव अपर स्थानिक आयुक्त अजय मिश्रा उपस्थित थे।

Pls clik

सीधे वीवीआईपी को प्रार्थना पत्र देने पर उच्च शिक्षा निदेशक ने दी चेतावनी

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!