भाजपा – कोर्ट का फैसला कानूनन गलत, मुकदमे गिनाकर शिकायतकर्ता की छवि बतायी

सीएम के पास इस्तीफे के अलावा कोई विकल्प नहीं – हरीश रावत

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में खोला मोर्चा

अविकल उत्त्तराखण्ड


देहरादून
उत्त्तराखण्ड के सीएम त्रिवेंद्र रावत पर लगे आरोपों की सीबीआई जांच के नैनीताल हाईकोर्ट के फैसले को लेकर प्रदेश से लेकर दिल्ली तक राजनीतिक व कानूनी मोर्चे पर बवंडर जैसा मंजर नजर आया। कांग्रेस भी बोली और दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने भी प्रेस की।

Uttatakhand highcourt
भाजपा मुख्य प्रवक्ता व विधायक मुन्ना सिंह चौहान

देहरादून में पार्टी के मुख्य प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने कोर्ट के फैसले को कानूनन गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि इस गलती को सुधारने के लिए राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दाखिल करेगी। उन्होंने कहा कि FIR रद्द करने के निर्णय से भाजपा संतुष्ट नहीं है।

यहां आहूत संवाददाता सम्मेलन में मुन्ना चौहान ने कहा कि जिन खातों में 25 लाख पैसा डालने के आरोप लगे वह सीएम के रिश्तेदार नहीं है। प्रो.हरेंद्र रावत व उनकी पत्नी के किसी भी खाते में कोई पैसा नही आया। यही नही शिकायतकर्ता उमेश कुमार का सीएम की पत्नी और प्रो रावत की पत्नी को सगी बहनें बताना भी गलत है। दोनों का कोई रिश्ता नही है।

Uttatakhand highcourt
पूर्व सीएम हरीश रावत

चौहान ने कहा कि इस मामले में शिकायतकर्ता पहले ही कोर्ट को बता चुका है कि उसकी ओर से दी गयी जानकारी सही नही है। इन खातों में कोई लेन देन नहीं हुआ। जांच में भी कोई लेन देन पकड़ में नही आया।  भाजपा के मुख्य प्रवक्ता चौहान ने कहा कि शिकायतकर्ता उमेश कुमार पर पांच राज्यों उत्त्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश, झारखण्ड, बंगाल,दिल्ली में लगभग दो दर्जन मुकदमे दर्ज है। सभी मुकदमे अलग अलग प्रकृति के हैं। इससे शिकायतकर्ता की कितनी प्रतिष्ठा है यह पता चलती है।

Uttatakhand highcourt
आप नेता राघव चड्डा

उधर, पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के सामने इस्तीफा देने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा। इस मुद्दे पर राज्यपाल से मिलकर सीएम के इस्तीफे की मांग करेंगे।

इसी मुद्दे पर आम आदमी पार्टी नेता राघव चड्डा ने दिल्ली में प्रेस वार्ता कर जीरो टॉलरेन्स पर भाजपा सरकार पर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश किये हैं। इससे पता चलता है कि राज्य में करप्शन कितना बढ़ गया है।

हाईकोर्ट ने क्या कहा, plss clik

हाईकोर्ट – उत्त्तराखण्ड के सीएम त्रिवेंद्र पर लगे आरोपों की सीबीआई जांच हो

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.