पांच आईएएस के कार्यों में फेरबदल।पूर्व एमडी की विजिलेंस जांच। वन विभाग के संविदा श्रमिक अब उपनल कर्मचारी

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी एम ए गणपति को नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। वह उत्तराखंड कैडर के 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

वन विभाग के संविदा श्रमिक भी अब उपनल कर्मचारी

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने वन विभाग के मुखिया के सामने उठाई श्रमिकों की समस्या
विभाग में वर्षों से लंबित प्रमोशन पूर्ण कराने पर जताया आभार

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को वन विभाग के मुखिया जयराज से मुलाकात कर विभाग में वर्षों से कार्यरत दैनिक श्रमिकों को उपनल के माध्यम से योजित करने की मांग की।
प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि विभाग में कार्यरत सैकड़ों दैनिक श्रमिकों को उपनल के माध्यम से योजित करने करने पर दैनिक श्रमिकों को उपनल द्वारा निर्धारित दरों के अनुसार मजदूरी का भुगतान हो सकेगा।

वन विभाग के मुखिया जयराज ने प्रतिनिधिमंडल की मांग को जायज ठहराते हुए इस संबंध में समस्त अधिकारियों को आज ही निर्देश जारी करने का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल ने वन विभाग में लंबित पदोन्नतियों को समय से पूर्ण करवाने के लिए भी वन महकमे के मुखिया जयराज का आभार जताया।
प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष ठाकुर प्रहलाद सिंह, महामंत्री अरुण पाण्डे, ओमवीर सिंह और शिशु तोमर आदि कर्मचारी नेता शामिल थे।

पूर्व एमडी भजन सिंह की विजिलेंस जांच शुरू


देहरादून। राज्य सतर्कता समिति की संस्तुति पर जल निगम के पूर्व प्रबंध निदेशक भजन सिंह की विजिलेंस जांच शुरू हो गई है। उन पर आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार समेत कई अन्य गंभीर आरोप हैं। सिंह 30 सितंबर को ही रिटायर हुए हैं।
भजन सिंह करीब दस साल जल निगम के प्रबंध निदेशक रहे। आए दिन विवादों में रहने और हाईकोर्ट में बढ़ते केसों के चलते सरकार ने उन्हें एमडी से हटाकर सलाहाकार बना दिया था। साथ ही आईएएस अधिकारी नीरज खैरवाल को मामले की जांच सौंपी थी। खैरवाल अभी जांच रिपोर्ट भी शासन को नहीं सौंप पाए थे कि इस बीच शासन के भजन सिंह पर लगे आरोपों की विजिलेंस जांच के आदेश कर दिए।
विजिलेंस विभाग ने भी जांच शुरू कर दी है। इंस्पेक्टर तुषार बोरा को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.