चैतू, जितना ज्यादा पानी खरचेगा बल्ल उतना ज्यादा बिल देना होगा। बोले त्रिवेंद्र । अब पानी पर होगी “जंग”

“आप” ने कहा पानी-बिजली बिल माफ। सीएम के फैसले से उत्त्तराखण्ड में शुरू होगी पानी की चुनावी जंग

पानी के उपभोग के अनुसार हो बिल भुगतान। ठोस कार्ययोजना बनायें अधिकारी-त्रिवेंद्र

पानी की बर्बादी रुकेगी, जेब भी ढीली होगी

जनता को गुणवत्ता युक्त पानी मिले और उपभोग के अनुसार ही बिल भुगतान हो, इसके लिए ठोस कार्ययोजना बनाएं अधिकारी

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। गंगा-यमुना के मायके उत्त्तराखण्ड में पानी के उपभोग और भुगतान को लेकर एक नया फैसला सामबे आया है। बेशक आम आदमी पार्टी बिजली और पानी के बिलों को माफ करने की बात कह रही है लेकिन उत्त्तराखण्ड में अब जितना पानी खर्च करोगे उतनी ही जेब ढीली करनी पड़ेगी।

Uttarakhand water

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ कह दिया कि लोगों को गुणवत्तापरक पीने का पानी दिया जाय। साथ ही जो जितना पानी का उपभोग करे उससे उतना वाटर चार्ज लिया जाय। मीटर लगाने के साथ ही उपभोक्ता से पानी की खपत के अनुसार पैसा लिया जाय।

मंगलवार को अस्थायी राजधानी के देहरादून स्थित सचिवालय में सीएम रावत ने अधिकारियों को इस बाबत खुले निर्देश दिए। इस फैसले के बाद अब लॉगिन के जलकर में भारी बढ़ोत्तरी होने की उम्मीद जताई जा रही है। साथ जल की अनावश्यक बर्बादी पर भी अंकुश लगेगा।

Uttarakhand water

दूसरी ओर, उत्त्तराखण्ड की 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके अरविंद केजरीवाल बिजली, पानी माफ के अलावा शिक्षा व स्वास्थ्य को मुद्दा बनाकर भाजपा-कांग्रेस से दो-दो हाथ करने के मूड में है। इधर, सीएम के पानी पर दिए निर्देश के बाद यह चुनावी मुद्दबन जाएगा।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि लोगों को गुणवत्ता युक्त पेयजल मिले और पानी के उपभोग के अनुसार ही बिल भुगतान हो, इसके लिए ठोस कार्ययोजना बनाई जाए।

Uttarakhand water

मुख्यमंत्री ने कहा कि मीटर लगाने के साथ ही पानी की खपत के अनुसार ही लोगों से चार्ज लिया जाए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में सभी परिवारों को मात्र एक रुपये में पानी का कनेक्शन दिया जा रहा है। बहरहाल, सरकार की इस गंभीर कवायद के बाद पानी के ज्यादा बिल का अंदेशा होते ही जनता का मूड तो बिगड़ेगा ही साथ ही राजनीतिक दलों को चुनावी मौसम में पानी की नई जंग में उलझने का भी मौका मिलेगा।

इस खास बैठक में अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, सचिव नितेश झा, शैलेश बगोली, सौजन्या, अपर सचिव नीरज खैरवाल और नगर आयुक्त देहरादून विनय शंकर पाण्डे आदि उपस्थित थे।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.