zydex

कोरोना को देख तय होगा कुंभ का आकार,हरकी पैड़ी स्कैप चैनल से होगी मुक्त

हरिद्वार कुम्भ की तैयारियों को लेकर सीएम व अखाड़ा परिषद की बैठक
कहा-कुंभ की परम्परा एवं संस्कृति का रखा जाएगा पूरा ध्यान

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि कोरोना की स्थिति को देखने के बाद ही कुम्भ का स्वरूप तय किया जाएगा। रविवार को मुख्यमंत्री आवास में अखाड़ा परिषद् के साथ हरिद्वार कुम्भ 2021 की तैयारियों को लेकर आहूत बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंभ मेला अपने दिव्य एवं भव्य स्वरूप में होगा।

Kumbh haridwar

बैठक में सीएम ने कहा कि कुंभ की परम्परा एवं संस्कृति का पूरा ध्यान रखा जाएगा। कोविड के कारण कुछ व्यावहारिक समस्याएं आई हैं। कुम्भ के शुरू होने पर कोविड की स्थिति कैसी रहती है, उसके अनुसार कुंभ के स्वरूप को विस्तार दिया जाएगा।

Kumbh haridwar

सीएम त्रिवेंद्र ने हरीश सरकार का फैसला पलटा, हर की पैड़ी को स्कैप चैनल से रखा जाएगा मुक्त


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द सिंह रावत ने कहा कि हर की पैड़ी को स्कैप चैैनल से मुक्त रखा जाएगा। हर की पैड़ी का अविरल गंगा का दर्जा बरकार रखा जाएगा। इसके लिए जल्द नया शासनादेश जारी किया जाएगा।
रविवार को मुख्यमंत्री आवास में अखाड़ा परिषद के साथ हरिद्वार कुंभ 2021 की तैयारियों की बैठक से पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हर की पैड़ी को स्कैप चैनल से मुक्त रखा जाएगा। हर की पैड़ी का अविरल गंगा का दर्जा बरकार रखा जाएगा। इसके लिए जल्द नया शासनादेश जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लंबे समय से गंगा सभा एवं जनता द्वारा हरकी पैड़ी क्षेत्र को स्कैप चैनल से मुक्त रखने की मांग की जा रही थी। यह क्षेत्र आस्था एवं विश्वास का प्रतीक है। जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है।


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि कुंभ में परिस्थितियों के हिसाब से जो भी निर्णय लिए जाएंगे, उसमें अखाड़ा परिषद और साधु-संतों के सुझाव जरूर लिए जाएंगे। राज्य सरकार का प्रयास है कि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। मुख्य सचिव को भी 15 दिन में कुभ मेले की समीक्षा के निर्देश दिए गए हैं।


बैठक में मुख्यमंत्री ने मेलाधिकारी से कुम्भ कार्यों की प्रगति की जानकारी ली। मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि 15 दिसंबर तक अधिकांश स्थाई प्रकृति के कार्य पूर्ण हो जायेंगे। 31 दिसम्बर तक सभी कार्य पूर्ण कर लिए जायेंगे। कुंभ के लिए बनाए जा रहे 9 घाटों, 8 पुलों व सड़कों का कार्य पूरा होने वाला है। सवच्छता, पेयजल, पार्किंग की व्यवस्था, अतिक्रमण हटाने का कार्य लगातार किया जा रहा है।


शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि अखाड़ों की समस्याओं का हर संभव निदान करने का प्रयास किया जाएगा। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि हरिद्वार कुंभ के सफल आयोजन के लिए राज्य सरकार को पूर्ण सहयोग दिया जाएगा।
इस अवसर पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरि गिरी जी, महंत प्रेम गिरी, महंत सत्यगिरी, महंत कैलाशपुरी, महंत मुकुन्दानन्द ब्रह्मचारी, महंत रवीन्द्र पुरी, गढ़वाल कमिश्नर रविनाथ रमन, आईजी गढ़वाल अभिनव कुमार, आईजी कुंभ मेला संजय गुंज्याल, अपर सचिव शहरी विकास विनोद कुमार सुमन, अपर मेलाधिकारी डॉ. ललित नारायण मिश्र, हरवीर सिंह, रामजी शरण शर्मा आदि उपस्थित थे।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *