सीएम कार्यालय ने कहा, नन्दप्रयाग- घाट सड़क का शासनादेश जल्द करिये

सीएम घोषणा अनुभाग ने लोनिवि के प्रमुख सचिव को पत्र लिख वित्तीय-प्रशासनिक स्वीकृति का जीओ जारी करने को कहा

आंदोलनकारियों पर हुए एक मार्च को हुए लाठीचार्ज की मजिस्ट्रेट जांच का अता पता नही। गैरसैंण बजट सत्र से ठीक पहले हुआ था जबरदस्त लाठीचार्ज ।

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। नन्दप्रयाग-घाट की आंदोलित जनता के लिए राहत की खबर। नंदप्रयाग-घाट सड़क मार्ग को डेढ़ लेन किया जाएगा। मुख्यमंत्री तीरथ रावत की घोषणा को धरती पर उतारने के लिए सीएम कार्यालय ने लोनिवि को आवश्यक कार्यवाही के लिए कहा है।सीएम कार्यालय ने 8 अप्रैल को इस बाबत लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव को प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति का शासनादेश जारी करते हुए मुख्यमन्त्री कार्यालय को अवगत कराने का अनुरोध किया गया है।

Nandprayag-ghat road movement

गौरतलब है कि थराली विधानसभा के तहत नन्दप्रयाग-घाट सड़क मार्ग के दोहरीकरण को लेकर जनता लगभग चार महीने से भी अधिक समय से आंदोलित है। गैरसैंण सत्र से ठीक पहले त्रिवेंद्र सरकार के समय इन आंदोलनकारियों पर जबरदस्त लाठीचार्ज भी किया था। लाठीचार्ज के बाद भाजपा सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा था। त्रिवेंद्र सरकार ने लाठीचार्ज की मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश दिए थे। लेकिन एक महीने से अधिक समय बीत जाने पर भी लाठीचार्ज के दोषियों पर तीरथ सरकार में भी कोई एक्शन नही लिया गया।

Nandprayag-ghat road movement

गैरसैंण में पुलिस के आलाधिकारियों की मौजूदगी में हुए लाठीचार्ज में कई ग्रामीण महिलाओं समेत आंदोलनकारी घायल हुए थे। उम्मीद यह थी कि तीरथ सरकार जांच को तेजी से पूरा करवाएगी।Nandprayag-ghat road movement

इधर, सड़क के चौड़ीकरण को लेकर सीएम कार्यालय ने प्रमुख सचिव को शासनादेश जारी करने को कहा है। सीएम घोषणा अनुभाग के अनु सचिव सुधीर सिंह की।ओर से लोनिवि के प्रमुख सचिव को पत्र भेजा गया है। इसके बाद सीएम को वस्तुस्थिति से अवगत कराया जाएगा। उम्मीद है कि चार महीने से आंदोलित जनता को नन्दप्रयाग-घाट के डेढ़ लेन होने का शासनादेश शीघ्र ही मुहैया होगा।

मुख्यमंत्री ने पूरी की नंदप्रयाग घाट क्षेत्र के ग्रामीणों की मुराद
नंदप्रयाग-घाट मोटर मार्ग को डेढ़ लेन करने की मुख्यमंत्री ने की घोषणा
कार्यवाई के लिए वित्त से लेकर नियोजन व लोनिवि के अधिकारियों को जारी किए निर्देश
*शीघ्र शासनादेश जारी करने की लिए भी निर्देश दिया *
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत  ने सड़क को डेढ़ लेन करने की मांग कर रहे नंदप्रयाग घाट क्षेत्र के ग्रामीणों की मुराद पूरी कर दी है। इस सड़क के चौड़ीकरण के लिए मुख्यमंत्री  ने आज घोषणा कर दी है। इसके लिए संबंधित विभाग को निर्देश भी जारी हो गए हैं। पदभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री ने यह एक अहम फैसला लिया है, जिसकी मांग के लिए स्थानीय ग्रामीण आंदोलन कर रहे थे। 
जनपद चमोली के नंद्रप्रयाग घाट क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले करीब 70 गांवों के ग्रामीण अपने विकास खंड की सड़क को डेढ़ लेन करने की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। सड़क से हजारों लोगों के हित जुड़े हैं। 
क्षेत्र की इस मांग को लेकर क्षेत्रीय विधायक श्रीमती मुन्नी देवी शाह ने मुख्यमंत्री  से मुलाकात की और उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराया। उन्होंने बातया कि सिंगल लेन सड़क होने के कारण नंदप्रयाग घाट क्षेत्र के ग्रामीणों को भारी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। उन्होंने बताया कि संकरे मार्ग पर दुर्घटनाओं का खतरा रहता है। कहा कि ग्रामीणों की मांग जायज है।
 क्षेत्र की समस्या पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री जी ने समस्या का समाधान कर दिया है। उन्होंने थराली विधान सभा के अंतर्गत आने वाले नंदप्रयाग से घाट बाजार तक की सड़क को डेढ लेन करने की घोषणा कर दी है। इसके लिए वित्त व नियोजन से लेकर लोक निर्माण विभाग को भी कार्रवाई के निर्देश जारी कर दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके लिये जनता सबसे बढ़कर है। जो जनता चाहेगी और जो जनता के हित में होगा वह किया जाएगा। जनहित में हर मुमकिन काम किया जाएगा।
इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख घाट सुश्री भारती देवी फरस्वाण, जिला पंचायत सदस्य बूरा वार्ड 25 सुश्री नन्दिता रावत, मण्डल अध्यक्ष घाट खिलाप सिंह नेगी, ज्येष्ठ प्रमुख घाट श्री अब्बल सिंह कठैत, सामाजिक कार्यकर्ता श्री त्रिभुवन सिंह फरस्वाण, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य श्री राकेश रावत तथा कर्नल हरेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे।

नन्दप्रयाग-घाट सड़क आंदोलन की खबरें, pls clik

नन्दप्रयाग-घाट सड़क आंदोलन.. हुआ लाठीचार्ज ..पड़ी पानी की बौछार..और मची चीख पुकार,देखें वीडियो

गैरसैंण लाठीचार्ज- सीएम त्रिवेंद्र का मजिस्ट्रेटी जांच का ऐलान, घण्टों जाम, पथराव का देखें वीडियो

आंदोलन का मिजाज भांपने में फेल ,चिंगारी हुई शोले में तब्दील, सदन में चलेंगे अब तीर

लाठीचार्ज…घाट कैंडल मार्च…उबाल, कुछ लोग फैला रहे अस्थिरता-त्रिवेंद्र

Nalanda
Flower

अपनी प्रतिक्रिया साझा करे

error: Content of this site is protected under copyright !!