गैरसैंण में होगी उत्तराखण्ड भाषा संस्थान की स्थापना

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। गैरसैंण-भराड़ीसैण को समर कैपिटल घोषित किया। 15 अगस्त का झंडा फहराया। फिर तत्काल गैरसैंण में जमीन खरीद वहीं बसने का इरादा जाहिर किया। और अब गैरसैंण में ही उत्त्तराखण्ड भाषा संस्थान की स्थापना का ऐलान कर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुछ नया संदेश देने की कोशिश की।

Gairsain

       इसके लिये भूमि क्रय हेतु 50 लाख की धनराशि की भी व्यवस्था की गई है।
     
       मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरसैंण में ग्रीष्म कालीन राजधानी के अनुरूप आवश्यक सुविधाओं के विकास की कार्ययोजना बनायी जा रही है। उत्तराखण्ड के केन्द्र बिंदु गैरसैंण के विकास एवं इसके समीपवर्ती नैसर्गिक स्थलों को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किये जाने पर ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिये भी विभिन्न योजनायें संचालित की गई हैं।

गौरतलब है कि समर कैपिटल की घोषणा के बाद कांग्रेस नेता हरीश रावत गैरसैंण में प्रदर्शन कर सीएम को घेरने की कोशिश कर चुके हैं। 15 अगस्त से पूर्व हरीश रावत ने गैरसैंण से ही पूछा था ,,त्रिवेंद्र जी कख च तुम्हरी समर कैपिटल। अब गैरसैंण में भाषा संस्थान की घोषणा के बाद जनहित से जुड़े विशेष कार्यालयों के भी गैरसैंण की ओर रुख करने की दिशा में भी तेजी से कदम उठाए जाने की जरूरत है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.