#

उत्त्तराखण्ड के चार धाम व प्रमुख मंदिरों के कपाट निम्न तिथियों में बंद होंगे

गंगोत्री धाम के कपाट आज 15 नवंबर को विधिवत पूजा अर्चना के बाद बन्द हुए। यमुनोत्री, केदारनाथ के कपाट 16 नवंबर व बद्रीनाथ जी के कपाट 19 नवंबर को बंद होंगे।

कपाट बंद होने की तिथियां

चारधाम देवस्थानम बोर्ड की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक चारों धामों समेत अन्य मंदिरों के कपाट शीतकाल में बंद किये जाने की तिथि तय कर दी गयी है। पूरे धार्मिक रीति रिवाज से 16 से 19 नवंबर तक बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री के कपाट बंद किये जायेंगे।

Uttarakhand char dham
  • श्री गंगोत्री धाम के कपाट आज 15 नवंबर अन्नकूट/ गोवर्द्धन पूजा के अवसर पर दिन 12 बजकर 15 मिनट पर शीतकाल हेतु बंद होंगे। उत्सव डोली मुखवा के लिए करेगी प्रस्थान।
  • श्री बदरीनाथ धाम के कपाट
    19 नवंबर शांय 3 बजकर 35 मिनट पर शीतकाल हेतु बंद किये जायेंगे।
  • श्री केदारनाथ धाम भैयादूज 16 नवंबर को कपाट प्रात: 8.30 बजे बंद होंगे।
  • यमुनोत्री धाम के कपाट भैयादूज के अवसर पर 16 नवंबर को दिन में 12.15 बजे बंद होंगे।
  • द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी के कपाट 19 नवंबर को प्रात: 7 बजे बंद होंगे।
  • तृतीय केदार तुंगनाथ जी के कपाट 4 नवंबर 11.30 बजे बंद हुए।
  • मद्महेश्वर मेला 22 नवंबर।

विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट रविवार को 12 बजकर .15 मिनट पर शीतकाल हेतु  बंद हो गये हैं। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुण तीर्थपुरोहित मौजूद रहे।
आज अन्नकूट- गोवर्द्धन पूजा के पर्व पर विधिवित पूजा अर्चना  कपाट शीतकाल के लिए बंद हुए। इस यात्रा वर्ष साढ़े तेईस हजार  श्रद्धालुओं ने मां गंगा के दर्शन किए।कपाट बंद होने के बाद मां गंगा की उत्सव डोली शीतकालीन प्रवास मुखबा के लिए रवाना हुई।

Gangotri devi
गंगोत्री मन्दिर से मां गंगा की उत्सव डोली मुखबा के लिए रवाना होते हुए

इस अवसर पर गंगोत्री मंदिर समिति अध्यक्ष सुरेश सेमवाल, दीपक सेमवाल,राजेश सेमवाल, हरीश सेमवाल सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। कपाट बंद होने तथा उत्सव डोली के प्रस्थान के दौरान सोशियल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। यह जानकारी देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी हरीश गौड़ ने दी।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *