कांग्रेस ने दमखम दिखाया , सीएम कैम्प मुस्कुराया

दिल्ली से दून तक रहा बेचैनी और जोश का शोर

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्त्तराखण्ड के राजनीतिक आकाश पर दिन दोपहर चिंता, बेचैनी, आक्रोश, जोश, अटकलें, साजिश और पलटवार का सतरंगी इंद्रधनुष सुबह से ही तन कर खड़ा था। देहरादून और दिल्ली में घोषित-अघोषित युद्ध के बादलों का घेरा। राजनीतिक और न्यायिक पटल पर एक ही मुद्दे पर रोचक संग्राम की कहानी लहरा रही थी। प्रदेश के गांव गांव की नजर दिल्ली की अदालत पर लगी थी।

Uttarakhand congress

देहरादून में हुंकार और ललकार की गूंज थी तो दिल्ली में तर्क और बहस की जोरदार डिबेट। उत्तराखण्ड सरकार के पैरोकार सुप्रीम कोर्ट में नैनीताल हाईकोर्ट के निर्णय की काट में अपने अनुभव व ज्ञान को ढाल बनाये हुए थे तो देहरादून में एकजुट कांग्रेस सीएम आवास में घेरा डालने के लिए सड़क पर उतर चुकी थी।

Uttarakhand congress

तीन दिन से नये व युवा प्रभारी देवेंद्र यादव की मैराथन बैठकों का असर साफ नजर आ रहा था। कार्यकर्ताओं का भारी सैलाब सड़क पर उतर आया। प्रभारी देवेंद्र यादव, पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रीतम सिंह, इंदिरा ह्रदयेश समेत कई नेता कार्यकर्ताओं के साथ कदमताल कर रहे थे।

इसी बीच, कांग्रेस को नारेबाजी के बीच दिल्ली से सीएम कैम्प के लिए राहत भरी खबर भी आई। सुप्रीम कोर्ट के स्टे ने सत्ता के गलियारे खुशी से उछल पड़े। दो दिन पहले हाईकोर्ट के आदेश के बाद  तक बल्लियों उछल रही टीम एकाएक साइलेंट हो गयी। पलटवार के इस खेल में इस बार बाजी त्रिवेंद्र के हाथ लगी।

Uttarakhand congress

लेकिन ,सुप्रीम कोर्ट के आदेश से बेखबर भाजपा के खिलाफ कांग्रेसी वक्ताओं के जोशीले भाषण उत्साह को चार गुना कर रहे थे। कांग्रेस ने एकजुट होकर असरकारी प्रदर्शन कर सीएम त्रिवेंद्र के इस्तीफे की मांग की। गिरफ्तारी के दौर में भी कांग्रेस कार्यकर्ता पीछे नही हटे। नारेबाजी के साथ बसें भर भर कर गिरफ्तारी दी।

Uttarakhand congress

एक तरफ कांग्रेस की तीन दिन से हो रही बैठकें और उसी समय उच्च न्यायालय का सीएम त्रिवेंद्र सरकार के खिलाफ सीबीआई जांच का आदेश आना। यह सब कांग्रेस का एसिड टेस्ट का भी सबब बन गया। प्रभारी देवेंद्र यादव के सामने भी लगे हाथ अपनी टीम का भौतिक सत्यापन हो गया। चुनाव से पहले सड़क पर प्रदर्शन का यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा लेकिन एकाएक उछले राजनीतिक मुद्दे ने आने वाले जाड़ों से पहले कांग्रेस को चार्ज जरूर कर दिया।

कांग्रेस प्रभारी देवेंद्र यादव व सह प्रभारी धर्माणी की   कांग्रेस की हर इकाई के नेता-कार्यकर्ता से हुए मंथन के बाद पार्टी का नये सिरे से बनने वाला रिपोर्ट कार्ड  जल्द ही हाईकमान की टेबल पर होगा। इस रिपोर्ट के आधार पर ही कांग्रेस का चुनावी संघर्ष का मास्टर प्लान तैयार होगा।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.