कोरोना से नौ की मौत, 15 हजार जांच रिपोर्ट पेंडिंग,डीएम को रात्रि कर्फ्यू का अधिकार

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्त्तराखण्ड में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 75 हजार को छूने ही वाला है। राज्य में 5 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हो चुके है। 15 हजार सैंपल की जांच रिपोर्ट पेंडिंग है। राज्य सरकार की नयी गाइड लाइन के मुताबिक उत्त्तराखण्ड में प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन जारी रहेगा लेकिन पास की जरूरत नही है।

सात से अधिक दिन के लिए उत्त्तराखण्ड आने वालों को 10 दिन के लिए क्वारंटाइन होना पड़ेगा। यही नही, अगर आप उत्त्तराखण्ड से बाहर 5 दिन या अधिक का प्रवास करते हैं तो अपने राज्य में आने पर 10 दिन क्वारंटाइन होना पड़ेगा। और अगर आने से चार दिन पहले कोविड रिपोर्ट नेगेटिव है तो क्वारंटाइन नहीं होना पड़ेगा। सात दिन से कम प्रवास पर जिला प्रशासन को सूचित करना होगा।

पर्यटक- पूर्व की तरह पर्यटकों को कोविड रिपोर्ट लाने की जरूरत नही है। लेकिन होटल में चेक इन के समय थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है। अगर कोविड के लक्षण पाए जाते है तो फिर प्रशासन नियमों के तहत जांच करवायेगा।

राज्य सरकार की नई गाइड लाइन के मुताबिक सार्वजनिक कार्यक्रमों में अधिकतम 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे। इससे पूर्व 200 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। इसके अलावा डीएम को रात का कर्फ्यू लगाने का अधिकार दिया गया है। लेकिन कंटेंमेंट जोन के बाहर लॉकडौन बिना राज्य सरकार की सहमति से नही लगाया जा सकेगा।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.