zydex

आईपीएस ने छात्र को थप्पड़ जड़े. फट्टे से मारा. सिगरेट से दागा. पुलिस चौकी में हुआ यह सब

मुंह बंद रखने की दी धमकी. कहा सुल्फा, गांजा बलात्कार के केस में फंसा देंगे

पीड़ित ने डीजीपी से गुहार लगाई, आईपीएस ने भी की क्रॉस शिकायत

पीड़ित छात्र ने कराया मेडिकल.डरे परिजन मानवाधिकार आयोग जाएंगे

बेटी का परिचित है पीड़ित छात्र, अप्रैल माह में हुई थी जान पहचान

पीड़ित छात्र पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

अविकल उत्तराखण्ड ब्यूरो

देहरादून।
एक आईपीएस अधिकारी द्वारा बेटी के परिचित व  11वीं के छात्र को पुलिस चौकी बुला कर पीटने व सिगरेट से दागने का सनसनीखेज मामला सुर्खियों में बना हुआ है। इस हाई प्रोफाइल मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली भी सवालों के घेरे में दिख रही है। घटना सोमवार की दोपहर 2 बजे की बताई जाती है।

देहरादून निवासी पीड़ित छात्र अंगद अरोड़ा

मिली जानकारी के मुताबिक विजय पार्क निवासी छात्र अंगद अरोड़ा को किसी मामले में देहरादून की बिंदाल चौकी पर बुलाया जाता है। छात्र जब वहां पहुंचा तो एक आईपीएस ADG स्तर के अधिकारी ने छात्र के साथ बदसलूकी की। पहले तो उसे बेल्ट से पीटा गया। छात्र को अन्य तीन से चार पुलिसकर्मियों ने भी मारा। छात्र के पीठ पर मारे जाने के साफ निशान दिखाई दे रहे हैं।

प्रेमनगर हॉस्पिटल में कराए गए मेडिकल रिपोर्ट

डीजीपी को दी गई शिकायत में कहा गया है कि पुलिस अधिकारी ने अंगद को थप्पड़ मारे। फिर मुंह में कपड़ा ठूंसा। कपड़े उतारे और कमर के नीचे फट्टे से वार किए। यही नही उक्त अधिकारी ने छात्र को सिगरेट पीने को कहा। छात्र के मना करने पर उसके हाथ पर सिगरेट  बुझा दी।

शिकायत के अनुसार, उक्त अधिकारी ने छात्र को धमकी देते हुए कहा कि इस मामले में मुंह खोला तो सुल्फा, गांजा व बलात्कार के केस में फंसा देंगे। यह भी कहा कि तेरी नग्न तस्वीर वायरल कर देंगे।

अपनी शिकायत में  अंगद अरोड़ा ने आईपीएस की बेटी से अप्रैल माह में हुई जान पहचान का जिक्र किया है। साथ ही बीच में संवाद न होने के भी गंभीर कारण भी बताए हैं।  शिकायत में पीड़ित छात्र ने यह भी लिखा है कि इस घटना के बाद उक्त अधिकारी की बेटी उसके कजिन को फोन कर खेद जता रही है।

बताया जाता है कि उक्त दोषी अधिकारी की बेटी व पीड़ित लड़का एक दूसरे के परिचित है। एडीजी स्तर के पुलिस अधिकारी की ओर से भी शिकायत की गई है। यह भी कहा जा रहा है कि छात्र ने पुलिस अधिकारी की बेटी से दुर्व्यवहार किया। लेकिन इसकी पुष्टि नही हो पाई।

इस मामले ने काफी तूल पकड़ लिया है। छात्र के परिजनों ने इस मामले में DGP को तहरीर देने के अलावा मानवाधिकार आयोग भी जा रहे हैं।

उधर, दोषी पुलिस पक्ष की ओर से भी शिकायत दर्ज को गई है। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने  एस पी सिटी श्वेता चौबे  मामले की जांच सौंपी है। ANI समाचार एजेंसी के अनुसार डीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने कहा है कि तथ्यों के अनुसार कार्रवाई की जा रही है। मामले की जांच सौंप दी गयी है।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *