ऑनलाइन क्लास में इन खास बातों का रखे ध्यान, पढ़ें ताजा निर्देश

सेवा में,

  1. समस्त मुख्य शिक्षा अधिकारी उत्तराखण्ड।
  2. समस्त प्राचार्य

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान उत्तराखण्ड।

पत्रांक SCERT / 5727-34 /

विषय :

/ 2021-22 दिनांक 17 जनवरी, 2022

Covid-19 वैश्विक महामारी के नये वैरियंट “Omicron” के संक्रमण के दृष्टिगत राज्य के अन्तर्गत संचालित सभी शिक्षण संस्थानों के बंद होने के फलस्वरूप शैक्षिक गतिविधियों संचालन के सम्बन्ध में।

महोदय

उपर्युक्त विषयक शासनादेश संख्या 910/USDMS/792(2020) TC-2 दिनांक 11 जनवरी, 2022 तथा शासन के पत्र सं. 17/xxxiv-8-5/2021-03 (01/2020 दिनांक 16 जनवरी, 2022 का संज्ञान लेने का कष्ट करें। उक्त आदेश निर्देशों के क्रम में वैश्विक महामारी कोविड-19 के नये वैरियंट “Omicron” के दृष्टिगत प्रदेश के समस्त विद्यालय (कक्षा 1 से कक्षा 12 तक) अग्रिम आदेशों तक बन्द कर दिये गये हैं। विद्यालयों के बन्द होने के फलस्वरूप विद्यार्थियों को सतत् रूप से शैक्षिक अनुसमर्थन प्रदान किये जाने की आवश्यकता है।

अतः विद्यार्थियों की शिक्षा को सतत् रूप से जारी रखने के क्रम में निम्न निर्देश निर्गत

किये जाते हैं

  1. समस्त प्रधानाचार्य एवं शिक्षक विद्यार्थियों एवं अभिभावकों के साथ सतत् रूप से

सम्पर्क बनाये रखें। 2. पूर्व की भांति विद्यार्थियों को ऑनलाइन तरीके से यथा व्हाट्सअप, इण्टरनेट, वर्कशीट के माध्यम से शिक्षण गतिविधियों को जारी रखें।

  1. PM e-Vidya के अन्तर्गत भारत सरकार द्वारा कक्षा 1 से कक्षा 12 तक के लिए टेलीविजन के माध्यम से एन.सी.ई.आर.टी. पाठ्यक्रम पर आधारित शिक्षण कार्यक्रम संचालित हैं। यह कार्यक्रम एक कक्षा के लिए समर्पित एक टेलीविजन चैनल के माध्यम से प्रतिदिन 24 घंटे संचालित किया जाता है। अतः जिन विद्यार्थियों के घर में टेलीविजन उपलब्ध हैं, उन विद्यार्थियों को टेलीविजन के माध्यम से PM e-Vidya के अन्तर्गत कक्षा 1 से कक्षा 12 तक शिक्षण कार्यक्रम का लाभ लेने हेतु प्रेरित करें।
  2. जिन विद्यार्थियों के पास डिजिटल संसाधन उपलब्ध नहीं है उन विद्यार्थियों हेतु डायट द्वारा वर्कशीट तैयार की जाएगी तथा वर्कशीट को खण्ड शिक्षा अधिकारी / उप शिक्षा अधिकारी के द्वारा विद्यार्थियों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाएगी।
  3. समस्त प्रधानाचार्य (शासकीय / अशासकीय / प्राथमिक / उच्च प्राथमिक / निजी) विद्यालय बन्द होने के फलस्वरूप छात्रों की शैक्षिक गतिविधि को बनाये रखने हेतु सभी यथासम्भव ऑनलाइन/ऑफलाइन कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करेंगे।
  4. तनाव प्रबन्धन के अन्तर्गत कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के विद्यार्थियों में आनन्दम् की गतिविधियों को समयान्तर्गत आयोजित किया जाए।

उक्त कार्य योजना के सभी स्तरों पर क्रियान्वयन हेतु तत्काल प्रभाव से विद्यालय एवं विकास खण्ड स्तर पर आवश्यक कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें।

भवदीय

12:01-2022

(आर) निदेशक

अकादमिक शोध एवं उत्तराखण्ड

देहरादून।

Pls clik

त्रिवेंद्र के खिलाफ डोईवाला से चुनाव लड़ सकते हैं हरक

Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.