हरक की कांग्रेस में वापसी पर हरीश पुराने स्टैंड पर कायम

भाजपा- कांग्रेस में नहीं है हरीश भाई के वजूद का नेता- हरक

प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने हरक का स्वागत किया

भाजपा ने सरिता आर्य को पार्टी में शामिल करा कांग्रेस को दिया जवाब

हरक ने कहा, विनाश काले विपरीत बुद्धि, जनता की अदालत में टूटेगा भाजपा का अहंकार

भाजपा वालों की पोल खोल दूंगा, हमाम में सब नँगे हैं

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। टिकटों की जंग में उलझी भाजपा – कांग्रेस में फिर तोड़ फोड़ की कहानी शुरू हो गयी।भाजपा से बाहर हो चुके पूर्व मंत्री की शाम तक कांग्रेस में वापसी नहीं हो पायी थी। जबकि भाजपा ने एक कदम आगे बढ़ाते हुए महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य को अपने पाले में खींच कांग्रेस को झटका दिया। यशपाल आर्य व संजीव आर्य की कांग्रेस में वापसी के बाद सरिता आर्य काफी नाराज चल रही थी। सरिता आर्य नैनीताल से दावेदारी कर रही हैं।

इससे इतर, भाजपा से बर्खास्तगी के बाद हरक सिंह  की आज कांग्रेस हाईकमान से बात होनी थी। और पार्टी में शामिल होने पर मुहर लगनी थी। लेकिन पूर्व सीएम हरीश रावत ने पार्टी कार्यकर्ताओं की भावनाओं का मुद्दा उठाकर नयी बहस को जन्म दे दिया। हरीश रावत यह कहने से भी नहीं चूके कि हरक सिंह की कांग्रेस में वापसी को लेकर उनकी कोई बात नहीं हुई।

पूर्व मंत्री हरक सिंह की कांग्रेस में वापसी के सस्पेंस पर थोड़ा पर्दा प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने उठाया। हरीश रावत के उलट उन्होंने हरक सिंह की कांग्रेस में संभावित वापसी का स्वागत किया।

नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह व प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव लम्बे समय से हरक सिंह की वापसी को लेकर कवायद में जुटे हुए थे। लेकिन 2016 में कांग्रेस की सरकार गिराने में अहम भूमिका निभाने वाले हरक सिंह को लेकर हरीश रावत की तल्खी बरकरार दिख रही है। हालांकि, कांग्रेसी सूत्रों का कहना है कि सोनिया व राहुल चुनाव की मज़बूती को लेकर हरक व अन्य पुराने कांग्रेसियों की वापसी करा भाजपा को झटका देने के मूड में है।

इद्दर, सोमवार की सुबह से ही हरक सिंह रावत मीडिया से बातचीत में भाजपा को घमंडी व अहंकारी पार्टी बताने से नहीँ चूक रहे हैं। कह रहे हैँ भाजपा ने उन्हें निकाल कर एक भारी बोझ से मुक्त कर दिया है।

हरक सिंह कहते हैं कि बाबा केदार व सिद्ध बाबा इनके घमंड को तोड़ेगा। हरक सिंह ने ऐलान किया कि 2022 के चुनाव में कांग्रेस सौ प्रतिशत जीतेगी। हरक सिंह ने हरीश रावत की तारीफ के पुल भी बांधे और कहा कि उनके वजूद का कोई नेता भाजपा व कांग्रेस में नहीं है। 2016 की बगावत पर कहा कि कुछ साथियों ने उन्हें बहका दिया था।

अलबत्ता हरक यह भी कह गए कि वे बैटिंग करेंगे और भाजपा की हर बाल पर छक्का मारेंगे।

Pls clik

त्रिवेंद्र के खिलाफ डोईवाला से चुनाव लड़ सकते हैं हरक

ऑनलाइन क्लास में इन खास बातों का रखे ध्यान, पढ़ें ताजा निर्देश

Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.