..,ये धुआं कहां से उठता है…इमरजेंसी से उठता है…

..तो श्रीकोट बेस हॉस्पिटल के डॉक्टर ने उड़ाए इमरजेंसी वार्ड में धुएं के छल्ले

डॉक्टर पर 2 हजार का जुर्माना, वार्ड ब्वाय भी निलंबित

अविकल उत्त्तराखण्ड

श्रीनगर। धुआं धुआं की यह कहानी लगभग 36 घण्टे पुरानी है। कोरोनकाल में सभी नियमों को धुएं के छल्ले में उड़ा दिया। यह खबर सच है। और उत्त्तराखण्ड के श्रीनगर के बेस हॉस्पिटल में हुई। धुंआ उड़ाने वाला एक जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर। 

मिली जानकारी के मुताबिक श्रीनगर मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डा़ सीएस रावत ने इमरजेंसी वार्ड के निरीक्षण के दौरान सिगरेट का  धुआं उठता देखा तो चौंक गए।  इमरजेंसी वार्ड में सिगरेट की गंध से भरा हुआ। मरीज और तीमारदार उसी धुंए में रहने को विवश लेकिन चुप रहे।

मरीजों और तीमारदारों से जब पूछा गया तो पता चला कि वहां तैनात जूनियर रेजिडेंट डाक्टर मोहम्मद ताहिर रजा इमरजेंसी वार्ड में सिगरेट पी रहे थे।

इमरजेंसी वार्ड में सिगरेट पीने पर प्राचार्य ने रेजिडेंट डाॅक्टर पर दो हजार रुपये का जुर्माना लगाया। इसके अलावा अक्सर गायब रहने वाले वार्ड ब्वाॅय गोपाल को भी निलंबित कर दिया। गोपाल के शराब  पीकर डयूटी से गायब रहने की शिकायत मिल रही थी।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.