शिकारी जॉय हुकिल की गडोली में बनेगा होम स्टे, डीएम गर्ब्याल ने कहा

खिर्सू में बासा (होम स्टे) कर रहा पर्यटकों का स्वागत

अविकल उत्तराखण्ड ब्यूरो

पौड़ी। अंग्रेजों के जमाने में कभी चाय के लिए मशहूर उत्तराखण्ड के पौड़ी के करीब गडोली स्टेट में अब होम स्टे आकार लेगा।

पौड़ी की इसी गडोली टी स्टेट में बनेगा Hunter House Home Stay

जिला प्रशासन स्तर पर इसकी कवायद शुरू हो गयी है। इससे पूर्व पौड़ी से करीब 20 किलोमीटर दूर खिर्सू में भी बासा (होम स्टे) पर्यटकों के लिए तैयार हो चुका है।

पौड़ी की सांझ और हिमालय

गडोली के इस होम स्टे के लिए जमीन प्रसिद्ध शिकारी जॉय हुकिल देंगे। हुकिल अब तक 37 आदमघोर लेपर्ड मार चुके हैं।

शिकारी जॉय हुकिल। बेहद विनम्र स्वभाव के जॉय हुकिल की गडोली की तीन नाली जमीन पर होम स्टे बनेगा। फ़ोटो साभार-अविकल

पौड़ी के जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल ने बताया कि 3 नाली में होम स्टे का निर्माण किया जाएगा। जॉय हुकिल पर्यटन विभाग को जमीन देंगे।एक साल के अंदर निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। 

खिर्सू की तरह ही गडोली के होम स्टे में भी निर्माण की पहाड़ी स्थापत्य कला का विशेष उपयोग किया जाएगा। डीएम गर्ब्याल ने बासा के निर्माण के समय उत्तराखण्ड के ही पारम्परिक कलाकारों के जरिये लकड़ी पर पहाड़ी नक्काशी करवाई थी।

Hunter House Home stay land scape

इन कलाकारों को डीएम आवास में ही कई दिन ठहरा कर खिर्सू के होम स्टे के दरवाजे और खिड़कियां बनवाई थी।

खिर्सू का बासा

गडोली के इस होम स्टे का संचालन जॉय हुकिल ही करेंगे। चूंकि हुकिल कई आदमखोर लेपर्ड को निशाना बना चुके हैं। लिहाजा हुकिल अपने रोमांचकारी अनुभवों को पर्यटकों के साथ साझा भी करेंगे। इसके अलावा गडोली के आसपास के जंगल में सफारी के जरिये लेपर्ड व अन्य जंगली जानवरों के दीदार कराए जाने की भी योजना है।

पहाड़ी निर्माण की झलक

गडोली की ढलवां ढलान की बेजोड़ खूबसूरती भी पर्यटकों को रिझाएगी। यहां से हिमालय दर्शन व रात में जगमगाती पौड़ी देखने का अहसास ही अलग होगा।

खिर्सू का होम स्टे। निर्माणमें पहाड़ी पत्थर का उपयोग

इन दिनों पौड़ी के कंडोलिया में भी पर्यटक गतिविधियां बढ़ाने के लिए कई प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इधर, गडोली की पहाड़ी पर होम स्टे की कवायद पौड़ी के लिए सुकून भरी खबर तो कही जा सकती है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.