zydex

यूपी के भाजपा सांसद ने कहा, उत्त्तराखण्ड पुलिस अवैध खनन की वसूली में जुटी

यूपी के भाजपा सांसद ने कहा, जीरो टॉलरेन्स की त्रिवेंद्र सरकार की छवि हो रही खराब

आंवला से भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को लिखा पत्र

मामले की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

अविकल उत्त्तराखण्ड

रुद्रपुर। आंवला के भाजपा सांसद उत्त्तराखण्ड के अवैध खनन और वसूली से बहुत आजिज आ गए हैं। सीएम त्रिवेंद्र रावत को पत्र लिख दिया और सारी सच्चाई बयां कर दी।

आंवला, यूपी के भाजपा सासंद धर्मेंद्र कश्यप ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को पत्र लिखकर उत्तराखंड पुलिस पर अवैध वसूली का आरोप लगाया है।

Uttarakhand khanan

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने कहा है कि हल्द्वानी से रेता, बालू, गिट्टी ओवर लोड/अवैध रुप से उत्तर प्रदेश भेजी जा रही है। ओवर लोडिंग क्रशर मालिक हल्द्वानी से चलकर थाना लालकुंआ, हल्दूचौड़, पंतनगर, किच्छा, पुलभट्टा एवं थाना बाजपुर, गदरपुर, रुद्रपुर कोतवाली, थाना किलाखेड़ा दिनेशपुर तथा लालपुर पुलिस चौकी तक की पुलिस अवैध खनन कर ओवर लोड ट्रक मालिकों-ड्राइवर से महीना वसूल कर खुलेआम जाने देते हैं।

Uttarakhand khanan

पत्र में कहा गया है कि पुलिस की कार्यशैली से सरकार की जीरो टोलरेंस की छवि को धक्का पहुंच रहा है, जिससे सरकार की बदनामी हो रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत से मामले की उच्चस्तरीय जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

यूपी के विधायक भी लगा चुके हैं अवैध वसूली का आरोप

पिछले महीने विल्सी, बदायूं से भाजपा विधायक पं. राधा कृष्ण शर्मा ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री कार्यालय को लालकुआं समेत नैनीताल और ऊधमसिंह नगर के कई कोतवाली व थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा वाहनों से अवैध वसूली की शिकायत की थी। विधायक ने पुलिस पर चेकिंग के नाम पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी।

गौरतलब है कि पिछले दिनों ऊधमसिंह नगर जिले की एक पूरी पुलिस चौकी के निलंबन और एक चौकी  इंचार्ज सहित आठ पुलिस कर्मियों के लाइन हाजिर के बाद भी उत्तराखंड पुलिस द्वारा अवैध वसूली़ की शिकायतें कम नहीं हो रही हैं।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *