…चंपावत वाल सबौकि मदद करनान…तुमुले ख्याल रख्न छ अब”

चंपावत से सीएम पुष्कर सिंह धामी ने किया नामांकन। भाजपा सरकार व संगठन के दिग्गज रहे मौजूद

चम्पावत से मनीष ओली की रिपोर्ट

चंपावत। “बचपन में इज कुन्यभै- चंपावत वाल सबौकि मदद करनान। मैं तुमर चेल छूं, तुमुले ख्याल रख्न छ अब”। यानी बचपन में ईजा कहती थी कि चंपावत वाले सबकी मदद करते हैं। मैं तुम्हारा बेटा हूं, अब तुमने ही मेरा ख्याल रखना है…… इस तरह की तमाम बातें कुमाऊंनी में करते हुए आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत की जनता के दिल को छूने की कोशिश की। उन्होंने चंपावत से अपनी नजदीकियों को भी उजागर किया और साथ ही “अब सब तुमर हाथ में छ” कहते हुए खुद को जनता की अदालत में पेश कर दिया।

मौका था चंपावत उपचुनाव में नामांकन के बाद जनता को संबोधित करने का। ये एक सामान्य जनसभा नहीं थी। संभवतः चंपावत में ये पहला मौका था, जब लगभग पूरी कैबिनेट, पूर्व सीएम, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी और तमाम विधायकगण एक साथ उपस्थित हुए हों। लगभग सभी वक्ताओं ने जनता को यह भरोसा दिलाने की कोशिश की, कि एक मुख्यमंत्री चुनने का मौका बार-बार नहीं मिलता और चंपावत के पास यह बेहतरीन अवसर आया है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने वक्तव्य में खासतौर से चंपावत के तमाम इलाकों का जिक्र करते हुए, यह जताने की कोशिश की, कि उनके लिए ये इलाका कोई नया नहीं है। उन्होंने गोलू देवता, पूर्णागिरी मंदिर, बाराही मंदिर देवीधुरा, अद्वैत आश्रम मायावती, नरसिंह मंदिर आदि का जिक्र किया।

बचपन में पिथौरागढ़ से खटीमा आने-जाने के दौरान अपने अनुभवों को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि ईजा (मां) की बातें मुझे ध्यान आती हैं, जब वे कहा करती थीं कि चंपावत वाले सबकी मदद करते हैं और आज वो मौका आ गया। उन्होंने कहा कि वो हमेशा यहां के लोगों के पीछे खड़े दिखाई देंगे, उनके सुख-दुख में हमेशा साथ रहेंगे। पूरे क्षेत्र को पर्यटन के रूप में एक बड़ा नाम बनाने के लिए वो लगातार काम करेंगे। मुख्यमंत्री धामी ने विकास को आगे रखते हुए ये संदेश देने की कोशिश की, कि चंपावत उनके लिए कोई नया इलाका नहीं है और मुख्यमंत्री की व्यवस्तताओं के बावजूद इस क्षेत्र से हमेशा जुड़े रहेंगे।

Pls clik

…जब योगी ने ऋतु की तय हार को जीत में बदल दिया

जस्टिस सुधांशु धूलिया सुप्रीम कोर्ट के जज बने, आज ली शपथ

Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.