कहीं पुल का लोकार्पण तो कहीं शिलान्यास, इधर सांसद तीरथ का नाम उधर गायब!

बौंसाल-भेटी मार्ग पर बना पुल चालीस साल बाद होगा पक्का। सांसद तीरथ रावत ने किया शिलान्यास। जानकी सेतु के शिलापट्ट पर सांसद तीरथ का नाम गायब।

अविकल उत्त्तराखण्ड

सतपुली। कोटद्वार-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर चालीस साल पहले नयार नदी पर बना लकड़ी का पुल अब मोटर पुल बनेगा। गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने शनिवार को बौंसाल-भेटी मार्ग पर लगभग 6 करोड़ की लागत से बनने वाले 60 मीटर स्पान के मोटर पुल का शिलान्यास किया।विश्व बैंक पोषित योजना के तहत इस पुल का निर्माण किया जाएगा।

इस पक्के पुल के बनने से अस्वालसयूं पट्टी के कई गांवों को लाभ मिलेगा। राज्य गठन के बाद भी 20 साल तक लोगों को इस कच्चे लकड़ी के पुल से गुजरना पड़ रहा है।

शनिवार को ढोल दमाऊ की आवाज के बीच सांसद तीरथ रावत ने शिलान्यास किया। इस अवसर पर पौड़ी विधायक मुकेश कोली उपस्थित थे।

कुछ तो लोग कहेंगे

Uttarakhandnews
जनपद टिहरी गढ़वाल के मुनि की रेती में कैलाश गेट के समीप गंगा नदी पर बने जानकी सेतु/ झूला पुल का लोकार्पण सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 20 नवंबर को किया। लोकार्पण के लिए लगाए गए शिलापट्ट पट गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत का नाम नही होने से पार्टीजन भी हैरान हैं। यह पुल यमकेश्वर व नरेन्द्रनगर विधानसभा में आता है। इन दोनों विधानसभा के भाजपा विधायक व मंत्री सुबोध उनियाल ब ऋतु खंडूरी के अलावा ऋषिकेश विधानसभा से विधायक व विधानसभाध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल का नाम शिलापट्ट पर दर्ज है लेकिन संसद तीरथ सिंह रावत का नाम नही है। कुछ तो लोग कहेंगे…

Leave a Reply

Your email address will not be published.