zydex

श्रद्धांजलि- रामपुर तिराहे पर सीएम धामी ने शहीदों को किया नमन

दिवंगत महावीर शर्मा की स्मृति में एक प्रतिमा स्थापित की जायेगी . प्रवासी साइकिल सवार भी रामपुर तिराहे पर पहुंचे, शहीदों को नमन किया

महिलाओं ने विरोध जताया, पुलिस से हुई धक्का मुक्की

अविकल उत्तराखंड

रामपुर तिराहा, मुजफ्फनगर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को शहीद स्थल रामपुर तिराहा मुजफ्फरनगर में राज्य आन्दोलकारी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि दिवंगत महावीर शर्मा की स्मृति में यहां पर एक प्रतिमा स्थापित की जायेगी । रामपुर तिराहे पर सीएम के पहुंचने पर महिला संगठनों ने विरोध प्रदर्शन भी किया।

उधर, प्रदेश के कई हिस्सों में अंकिता भंडारी हत्याकांड के विरोध में बाजार बंद पूरी तरह सफल रहा।

सीएम बे कहा कि ग्राम- रामपुर, सिसौना, मेघपुर एवं बागोंवाली ग्रामवासियों की सहृदयता एवं जन भावना के दृष्टिगत 2016 में जन मिलन केन्द्रों का निर्माण कराया गया था, उनके पुनर्निर्माण का कार्य किए जाने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि शहीद स्मारक स्थल हेतु अपनी जमीन दान करने वाले दिवंगत पंडित महावीर शर्मा की प्रतिमा लगाई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य निर्माण के लिए सही गई कठोरतम पीड़ाओं में से एक रामपुर तिराहा कांड की बरसी पर मैं उत्तराखंड के एक-एक आंदोलनकारी को दंडवत नमन करता हूं।

उन्होंने कहा अपनी अस्मिता के लिए शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे उत्तराखंडियों को मिला ये घाव आज तक भरा नहीं है और प्रदेश का एक-एक जन आज भी इसके दर्द को महसूस करता है। उन्होंने रामपुर तिराहा गोलीकांड में अपना बलिदान देने वाले आंदोलनकारियो को नमन किया।

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि आंदोलनकारियों की कुर्बानियों पर यह राज्य बना हुआ है।

इस दौरान केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव कुमार बलियान, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार ( उत्तर प्रदेश सरकार) कपिलदेव अग्रवाल, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट, विधायक प्रदीप बत्रा, सचिव उत्तराखंड शासन एच.सी सेमवाल एवं अन्य लोग मौजूद रहे।

प्रवासी साइकिल सवारों ने दून से रामपुर तिराहे पहुंच शहीदों को दी श्रद्धांजलि

रविवार को साइकिल प्रवासी-निवासियों का काफिला शहीदों को श्रद्धांजलि देने रामपुर तिराहा पहुंचा। ‘शहीद सम्मान यात्रा’ में मुम्बई, दिल्ली व अन्य राज्यों के प्रवासी उत्तराखंडी 40 साइकिलों में 130 किलोमीटर सफर तय कर रामपुर तिराहा पहुंचे।

यह काफिला सुबह 5.30 बजे शहीद स्थल (देहरादून) से रामपुर तिराहा इस संकल्प के साथ रवाना हुआ। ‘शहीद सम्मान यात्रा’ को उत्तराखंड आंदोलन की शीर्षस्थ शख्सियत सुशीला बलूनी ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।

इस अवसर पर उत्तराखंड आंदोलन के प्रमुख चेहरे प्रदीप कुकरेती व अन्य शख्सियतें भी उपस्थित रहे।

सुशीला बलूनी ने कहा कि उत्तराखंड के शहीदों को यही बड़ी श्रद्धांजलि होगी कि नयी पीढ़ी शुद्ध भाव से राज्य की कमान अपने हाथ लेने आगे आये और शहीदों के सपनों को आकार दे, निखार दे।

‘हस्तक्षेप’ के संस्थापक केशरसिंह बिष्ट और ‘मैत्री एडवेंचर क्लब’ के सुधीर बडोनी व खेल की दुनिया से जुड़े विमल डबराल ने ‘शहीद समान यात्रा’ को आयोजित किया।

खेल की दुनिया का बड़ा नाम ‘डेकेथलॉन’ ने साइकिल सवारों को भेंट देकर उनका हौसला बढ़ाया। उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी संघर्ष समिति (हरिद्वार), उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी संघर्ष समिति (रुड़की) और पहाड़ी महासभा (रजि.) (हरिद्वार) ने इस जज़्बाती यात्रा को अपनी मजबूत सांगठनिक ताकत से भर दिया।

उद्योगपति डी. एस. पंवार, गजेंद्र गौड़, वैभव गोयल, विनोद पंवार, सुरेश भट्ट, शिक्षाविद ललित जोशी, अम्बुज नौटियाल आदि ने ‘शहीद सम्मान यात्रा’ के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *