इगास-बग्वाल पर सार्वजनिक अवकाश की मांग कर बनाया दबाव,मंत्री रेखा गांव में मनाएंगी इगास

अविकल उत्त्तराखण्ड


देहरादून। त्रिवेंद्र सरकार में मंत्री रेखा आर्य व विधायक गणेश जोशी के इगास-बग्वाल (बूढ़ी दीवाली) अपने गांव में मनाने के ऐलान के बाद आंदोलित उत्तराखंड सचिवालय संघ ने भी इस मुद्दे को हवा दे दी है। मंगलवार को मुख्य सचिव ओम प्रकाश को ज्ञापन सौंपकर 25 नवंबर को उत्तराखंड में इगास बग्वाल पर सार्वजनिक अवकाश स्वीकृत करने की मांग की।

उत्त्तराखण्ड के गांवों में मनाई जाने वाले इगास पर्व की झलकियां


ज्ञापन में कहा गया है उत्तराखंड में इगास बग्वाल त्यौहार बड़ी धमधाम से मनाया जाता है। अतः यहां की भौगोलिक और सांस्कृतिक धरोहर के आधार पर इस पर्व को मनाने के लिए एवं उसका प्रचार-प्रसार करने के उद््देश्य से 25 नवंबर को इगास बग्वाल पर्व का सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जाए।

गौरतलब है कि बीते साल भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा इगास बग्वाल पर राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी के गांव पहुंचे थे। बलूनी अस्वस्थ होने की वजह से अपने गांव नहीं पहुंच पाए थे। उत्त्तराखण्ड में बूढ़ी दीवाली पर सार्वजनिक अवकाश की मांग कर सचिवालय संघ ने शासन पर दबाव बढ़ा दिया है। उत्त्तराखण्ड में छठ पर्व पर सार्वजनिक अवकाश की व्यवस्था है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.