नानकमत्ता में तेईस साल से नौकरी कर रहा फर्जी शिक्षक गिरफ्तार


सितारगंज की उप शिक्षा अधिकारी ने 24 मई को शिक्षक के खिलाफ दर्ज कराया था मुकदमा
केस दर्ज होने के बाद से फरार चल रहा था आरोपी, एसएसपी ने 2500 रुपये का ईनाम किया था घोषित

अविकल उत्त्तराखण्ड

नानकमत्ता। शिक्षा विभाग में 23 वर्षों से फर्जी कागजातों के आधार पर नौकरी कर रहे शिक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यह शिक्षक लंबे समय से फरार चल रहा था और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस पर 2500 रुपए का ईनाम घोषित किया हुआ था।

Fraud teacher uttarakhand


सितारगंज की उप शिक्षा अधिकारी सुषमा गौरव ने 24 मई 2020 को समरपाल सिंह पुत्र जबर सिंह निवासी अमरोहा यूपी के खिलाफ थाना नानकमत्ता में फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर लगभग 23 वर्षों तक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक की नौकरी करने का मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमा दर्ज होते ही आरोपी समर पाल सिंह फरार हो गए। सोमवार देर रात को पुलिस ने उसे अफजलगढ़ बस अड्डे के पास से गिरफ्तार कर लिया है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.