UttarakhandDIPR

पौड़ी की नयार घाटी में उठेंगी साहसिक खेलों की लहर

19 से 22 नवंबर तक चलेगा नयार घाटी साहसिक खेल महोत्सव,जापान-नेपाल में प्रतिभागी लेंगे हिस्सा

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत करेंगे साहसिक खेलों की शुरुआत, आकर्षक पुरुस्कार राशि

अविकल उत्त्तराखण्ड

पौड़ी/बिलखेत/बांघाट/सतपुली।

बरसों बरस पर्यटन के लिहाज से बिल्कुल गरीब व कुपोषण की शिकार रही पौड़ी जिले की नयार घाटी में कुछ हलचल सी है। सदियों से चले आ रहे सूखे के खत्म होने व कुछ उम्मीदों की बूंदाबांदी की शुरुआत की खबर है। रोमांचकारी पर्यटन की यह बूंदे अगर सरकार ने अपनी हथेली पर सजा ली तो आने वाले कल में नयार घाटी में पर्यटकों की झड़ी लग जायेगी।

राज्य गठन के 20 साल बाद इस लुटी पिटी नयार घाटी में रोमांचकारी पर्यटन की शुरुआत होने जा रही है। नयार नदी के आस पास का इलाका 19 नवंबर से 22 नवंबर तक गुलजार रहेगा। इस इलाके में चार दिन तक  पैराग्लाइडिंग, एंगलिंग, माउंटेन बाइक,ट्रेल रनिंग व हॉट एयर बलूनिंग को लेकर खिलाड़ी कशमकश करेंगे। पूर्व में नयार नदी में राफ्टिंग, नौकायन, एंगलिंग का भी सफलता पूर्वक परीक्षण हो चुका है। जापान और नेपाल से भी प्रतिभागी पहुंच रहे हैं।

प्रथम नयार वैली साहसिक महोत्सव की शुरुआत सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत बिलखेत, सतपुली में करेंगे। इस मौके पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, सुबोध उनियाल, राज्यमंत्री धनसिंह रावत समेत जनप्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।

जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल धीराज गर्ब्याल ने सोमवार को बताया कि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर पर्यटन विभाग इस एडवेंचर महोत्सव के जरिये उत्त्तराखण्ड में एक नया टूरिस्ट स्पॉट विकसित करने की योजना पर काम कर रहा है। जिला प्रशासन ने महोत्सव की पूरी तैयारी कर ली है। लैंसडौन तक आने वाले पर्यटक अब नयार नदी के किनारे बिलखेत, सतपुली में साहसिक पर्यटन का आनन्द उठा सकते हैं।

डीएम पौड़ी, धीराज गर्ब्याल

डीएम धीराज गर्ब्याल ने कहा कि पैराग्लाइडिंग प्रतियोगिता में 13 राज्यों से करीब 70 प्रतिभागी हिस्सा लेंगे।  (एमटीबी) माउंटेन ट्रैक बाइक प्रतियोगिता में प्रतिभागी 180 किमी दूरी तय करेंगे। तीसरी प्रतियोगिता ट्रेल रनिंग की रखी गई है। इसके प्रतिभागी गांव के पगडंडियों में दौड़ लगायेंगे। इसकी शुरूआत लैंसडोन से होगी। जोकि 63 किमी की तय की गई है। चौथी प्रतियोगिता एंग्लिंग ब्यास घाटी में आयोजित की जायेगी। इसमें 20 से अधिक प्रतियोगी हिस्सा लेंगे। इसमें आकर्षक पुरस्कार राशि भी रखी गयी है।

उन्होंने बताया कि हिमाचल के वीर बिलिंग में स्थानीय युवक व युवतियों को पैरा ग्लाइडिंग पायलट का प्रशिक्षण दिया। स्थानीय पायलट होने से इलाके के लोगों को पर्यटन गतिविधियों से रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसके अलावा पौड़ी के कंडोलिया में बन रहा बहुउद्देशीय मनोरंजन पार्क भी पर्यटकों को आकर्षित करेगा। यही नही, नयार घाटी साहसिक खेल महोत्सव को अब राज्य सरकार के वार्षिक मेला कैलेंडर में भी स्थान दिलाने का सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत जी से अनुरोध किया जाएगा।

नयार घाटी में पैराग्लाइडर की उड़ान

इस बाबत लैंसडौन की होटल एसोसिएशन व स्थानीय कैम्प संचालकों से भी सामंजस्य स्थापित किया गया है।

नयार घाटी साहसिक महोत्सव की सफलता से ही इस उपेक्षित इलाके में एक नया पर्यटक सर्किट विकसित होगा। कोटद्वार-लैंसडौन-सतपुली-पौड़ी के 105 किलोमीटर पैच में पर्यटकों की आमदरफ्त होने से नयार घाटी का इलाका उत्त्तराखण्ड का एक नया पर्यटक स्थल बन सकता है।

उधर, नयार घाटी साहसिक खेल महोत्सव से उत्साहित द कैम्प गोल्डन महाशीर के संयोजक रतन सिंह असवाल का कहना है कि इस आयोजन से पर्यटकों के लिए एक नई खिड़की खुलेगी।

अजय सतीजा, होटल व्यवसायी

होटल व्यवसायी अजय सतीजा का कहना है कि इस साहसिक महोत्सव से लैंसडौन आने वाला पर्यटक सतपुली व पौड़ी की ओर भी रुख करेगा।

रतन सिंह असवाल, संयोजक पलायन एक चिंतन

असवाल ने बताया कि ढाड्डूखाल से पैराग्लाइडिंग की ट्रायल सफलतापूर्वक हो रही है। चार दिन सभी पर्यटक साहसिक खेलों का आनन्द उठाएंगे। हाल ही में हमारे संगठन की ओर से की गयी ढाखर पैदल यात्रा को भी राज्य सरकार बढ़ावा दे सकती है।

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!