UttarakhandDIPR

‘कौन बनेगा करोड़पति’ में हवलदार से सात लाख ठगी के दो साइबर मास्टरमाइंड तमिलनाडु से गिरफ्तार

उत्त्तराखण्ड एसटीएफ ने देहरादून से 2900 किमी दूर तिरुवेनवेली, तमिलनाडु से दोनों को किया गिरफ्तार।
ठगों ने पीड़ित से तमिलनाडू, असम, बिहार, यूपी, गुजरात के अलग-अलग 14 बैंक खातों में जमा कराए थे सात लाख रुपए

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्तराखंड एसटीएफ ने दो साइबर ठगों को देहरादून से 2900 किमी दूर तिरुवेनवेली, तमिलनाडु से गिरफ्तार किया है। साइबर ठगों ने भारतीय सेना में हवलदार के मोबइल नंबर पर टेलीविजन पर प्रसारित ‘‘कौन बनेगा करोड़पति‘‘ में लक्की ड्रा के आधार पर 25 लाख की लॉटरी जीतने का संदेश भेजकर रजिस्ट्रेशन शुल्क, बैंक शुल्क और इनकम टैक्स आदि के नाम पर पीड़ित से अलग-अलग बैंक खातों में लगभग सात लाख जमा करवाए। हवलदार की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा कर इसकी विवेचना साइबर थाने में नियुक्त इस्पेक्टर पंकज पोखरियाल को सौंपी थी।


जांच में पता चला कि अभियुक्तों ने पीड़ित को जिन नंबरों से वाट्सअप कॉल की, वे कर्नाटक तथा बिहार सर्किल के हैं। अभियुक्तों ने पाकिस्तान के आईपी एड्रेस का प्रयोग कर पीड़ित को वाट्सअप पर कॉल की थी। अपराधियों ने पीड़ित से तमिलनाडू, असम, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात आदि प्रदेशों के पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और भारतीय स्टेट बैंक के कुल 14 बैंक खातों में धोखाधड़ी से सात लाख रुपये जमा करावाए। इन बैंक खातों में मात्र तीन माह में ही लगभग एक करोड़ से अधिक की धनराशि का लेनदेन किया गया।
इंस्पेक्टर पंकज पोखरियाल के नेतृत्व में पुलिस टीम अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु भेजी गई।

पुलिस ने दो आरोपियों को तिरुवेनवेली, तमिलनाडु गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह एक प्रतिष्ठित कंपनी के डीलर हैं तथा उनका संपर्क श्रीलंका और दुबई के उसी प्रतिष्ठित कम्पनी के बड़े डीलरों से है। दुबई तथा श्रीलंका के डीलर ही जनता से लोकप्रिय धारावाहिक “कौन बनेगा करोड़पति” के नाम पर अलग-अलग राज्यों में लॉटरी जीतने का लालच देकर धोखाधड़ी करते हैं तथा धोखाधड़ी की धनराशि जमा करने के लिए साइबर अपराधी अपने व देशभर मे फैले अपने अन्य साइबर अपराधियों के बैंक एकाउंट डीलरो को उपलब्ध कराते हैं।


अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में निरीक्षक पंकज पोखरियाल के अलावा उप निरीक्षक राजीव सेमवाल, मुख्य आरक्षी (प्रो.) सुरेश कुमार और आरक्षी श्रवण कुमार शामिल थे।

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!