राज्यपाल व सीएम ने कहा, 16 दिसंबर भारतीय सेना के शौर्य व पराक्रम का प्रतीक

सीएम ने गांधी पार्क में शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित किए

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून । राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि ‘‘विजय दिवस” भारतीय सेना के शौर्य व पराक्रम का प्रतीक है। देश की एकता और अखण्डता की रक्षा के लिए समर्पित सेना के प्रत्येक जवान और शहीद पर राष्ट्र के प्रत्येक नागरिक को गर्व है।

राज्यपाल ने कहा कि भारतीय सेना ने सदैव ही बाहरी व आंतरिक सुरक्षा के साथ ही दैवीय आपदा व अन्य विपरीत परिस्थितियों में भी आम नागरिकों की रक्षा में अहम भूमिका निभाई है। भारत के प्रत्येक नागरिक के हृदय में भारतीय सेना के प्रति अपार स्नेह व सम्मान है।


राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने सन् 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर शानदार विजय की स्मृति में प्रति वर्ष 16 दिसम्बर को मनाए जाने वाले विजय दिवस पर, सभी नागरिकों, वीर सैनिकों, पूर्व सैनिकों व सैनिकों के परिजनों को शुभकामनाएं दी हैं।  राज्यपाल ने राष्ट्र की रक्षा में अपना जीवन बलिदान करने वाले वीर शहीदों को नमन किया है

उधर, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को विजय दिवस पर गांधी पार्क में शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की महान सेना ने  पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों को आत्मसमर्पण करने को मजबूर कर दिया था। भारत की सुरक्षा और विश्व के इतिहास में यह एक महत्वपूर्ण दिन है। यह हमारे सैनिकों को वीरता का परिणाम है।

इस अवसर पर गांधी पार्क में मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक गणेश जोशी, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, निदेशक सैनिक कल्याण ब्रिगेडियर के.बी.चन्द एवं पूर्व सैन्य अधिकारियों ने शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।
  

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.