UttarakhandDIPR

UKSSSC पेपर लीक- बड़ों- बड़ों को टोपी पहना चुका है हाकम सिंह

हाकम सिंह के रिजॉर्ट में सपत्नीक पहुंचे थे डीजीपी अशोक कुमार

गिरफ्तार हाकम सिंह के ‘इनपुट’ से बड़ी मछलियां फंस सकती हैं जाल में

अविकल उत्तराखंड

देहरादून। उत्तराखंड के बहुचर्चित भर्ती घोटाले के मुख्य सूत्रधार व सरकारी नौकरी की गारंटी माने जा रहे जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह रावत की गिरफ्तारी के बाद अब बड़ी मछलियों के सम्भावित खुलासे पर सभी की नजरें टिक गई है।

22 जुलाई को चयन आयोग पेपर लीक मामले में दर्ज मुकदमे के बाद 18 गिरफ्तारी हो चुकी है। आयोग के अध्यक्ष एस राजू इस्तीफा दे चुके है और शासन आयोग के सचिव संतोष बडोनी की जगह सुरेंद्र रावत को सचिव की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी चुका है। पीसीएस अधिकारी शालिनी नेगी परीक्षा नियंत्रक बनाई जा चुकी हैं।

डीजीपी के पत्नी अलकनन्दा अशोक पारम्परिक पहाड़ी लिबास में

इसके अलावा थाईलैंड में मौजूद उत्तरकाशी जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह की भी पुख्ता गिरफ्तारी हो चुकी है । हाकम सिंह के मोरी इलाके के लगभग 80 लोग इस परीक्षा में पास हो चुके थे। हाकम सिंह के परिवार के सदस्य भी आयोग की परीक्षा धड़ल्ले दे क्लियर कर चुके हैं।

कई साल पहले उत्तरकाशी के डीएम के यहां काम करने वाले हाकम सिंह ने यह तिकड़मबाजी सीख नेताओं और अधिकारियों को करवट में लेना शुरू कर दिया था। हाकम सिंह उस डीएम के हरिद्वार पोस्टिंग के दौरान भी अन्य अधिकारियों के संपर्क में आया। यही नहीं लोक सेवा आयोग के अलावा अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में भी अपनी जड़ें मजबूत करता चला गया।

परीक्षा करा रही एजेंसियों के अलावा प्रिंटिंग प्रेस तक अपनी पकड़ बना ली। सूत्रों का यहां तक कहना है कि हाकम सिंह ने लेक्चरर के पद पर भी कुछ नियुक्तियां कराई हैं। आगे होने वाली जांच में इस बात का भी खुलासा होगा।

2020 की फारेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में भी हाकम सिंह की खास भूमिका थी। मंगलौर में उसके खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज हुई थी। लेकिन बाद में हाकम को बचा लिया गया।

फिलवक्त, सीएम के कड़े निर्देश के बाद हाकम सिंह पकड़ा गया। और रविवार को भाजपा ने हाकम सिंह को छह साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया। इस पूरे घटनाक्रम में हाकम सिंह को उसकी ऊंची पहुंच का कोई लाभ नहीं मिला।

चूंकि, हाकम सिंह भाजपा के टिकट पर जिला पंचायत सदस्य चुना गया। लिहाजा, परंतु नेताओं के साथ हाकम सिंह की फ़ोटो होना सामान्य बात है। हाकम सिंह ने अपनी फेसबुक वॉल में डीजीपी अशोक कुमार समेत कई नेताओं के साथ खींचे गए फोटोग्राफ्स चस्पा किये हैं। इनमें 27 जनवरी को डीजीपी अशोक कुमार का हाकम सिंह के मोरी स्थित रिजॉर्ट की फ़ोटो विशेष चर्चा का विषय बनी हुई है। हाकम की गिरफ्तारी के बाद यह फोटो सत्ता के गलियारों में तेजी से वॉयरल भी हो रहा है।

हाकम सिंह है डीजीपी अशोक कुमार को भी अपने रिसॉर्ट में पहनाई पहाड़ी टोपी

इन फोटोज में डीजीपी व हाकम सिंह की सपत्नीक फ़ोटो विशेष आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। डीजीपी की पत्नी भी पारम्परिक पहाड़ी लिबास में है। हाकम सिंह ने पहाड़ी टोपी भी पहनाई है। और 16 जनवरी को फेसबुक वाल में आभार भी जताया है।

इसके अलावा भाजपा के कई बड़े नेताओं के साथ भी हाकम सिंह की कई फोटोज वॉयरल हो रही हैं। अब चूंकि, हाकम सिंह गिरफ्तार हो चुका है। STF की पूछताछ के बाद हाकम सिंह किस सीमा तक राज उगलते है। यह भी एक प्रमुख मुद्दा है और क्या एसटीएफ बड़ी मछलियों को करवट में ले पाएगी, निकट भविष्य में यह भी पता चल जाएगा..इंतजार करिये कल तक…

…कहानी हाकम सिंह रावत की

उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग की स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा के पेपर लीक का मास्टर माइंड हाकम सिंह का जन्म सीमान्त जनपद उत्तरकाशी के मोरी ब्लाक के फिताड़ी गांव में एक साधारण परिवार में हुआ। लेकिन, नेताओं और अधिकारियों की यारी की बदौलत उसने चंद वर्षों में करोड़ों का साम्रराज्य खड़ा कर दिया। वह न केवल सांकरी में एक आलिशान रिजोर्ट का मालिक है, बल्कि होमस्टे और बागवानी में भी पूरे क्षेत्र में उसकी धाक है।
हाकम सिंह की कहानी करीब 20 पहले शुरू होती है।

घर की माली हालत ठीक नहीं होने के कारण उसने उत्तरकाशी में रहे एक चर्चित उच्च अधिकारी के घर में काम किया। करीब दो साल बाद हरिद्वार स्थानांतरण होने पर अधिकारी हाकम सिंह को भी हरिद्वार ले गया। यहीं हाकम सिंह ने अधिकारियों के बीच पैठ बनानी शुरू की। हाकम के बचपन के साथियों का कहना है कि हरिद्वार ही रहकर उसने काले धंधे सीखे।


हाकम सिंह ने 2008 में पहली बार राजनीति में कदम रखा। उसने अपने गांव में प्रधान का चुनाव लड़ा और पहले की प्रयास में प्रधान चुन लिया गया। 2019 में हाकम जखोल वार्ड से जिला पंचायत सदस्य चुना गया।

हाकम सिंह का सांकरी में आलीशान रिर्जोट है। रिर्जोट में कई बड़े-बड़े नेता और नौकरशाह ठहरते है। तीन-चार माह पूर्व प्रदेश का एक बड़ा नौकरशाह अपने परिवार के साथ इस रिर्जोट में ठहरा था। खासबात यह है कि क्षेत्र में अपनी धाक जमाने के लिए हाकम सिंह रिर्जोट में ठहरने आए बड़े-बड़े लोगों के साथ फोटो खिंचवाकर अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट कर देता था।

Pls clik

UKSSSC पेपर लीक- हाकम सिंह ने उगले राज,कई अन्य भी होंगे गिरफ्तार

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!