आंदोलनकारी जुगरान ने दून विवि के कुलपति चयन प्रक्रिया पर साधा निशाना

राज्यपाल व सीएम को पत्र सौंपकर की पैनल की सघन जांच कराने की मांग

अविकल उत्त्तराखण्ड



देहरादून। उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलनकारी सम्माान परिषद के पूर्व अध्यक्ष एवं भाजपा नेता रविंद्र जुगरान ने दून विश्वविद्यालय के कुलपति चयन के लिए राज्यपाल से पैनल की जांच की मांग की।

Doon university


शनिवार को राज्यपाल को पत्र सौंपकर भाजपा नेता जुगरान ने कहा कि दून विवविद्यालय के कुलपति चयन के लिए 22 अक्टूबर को आयोजित सर्च कमेटी की बैठक के बाद तीन अभ्यर्थियों के नाम का पैनल राजभवन को भेजा गया। उन्होंने कहा कि जनता के बीच यह चर्चा है कि इस पैनल में दो अभ्यर्थी विज्ञापन में अंकित आचार्य पद पर दस वर्ष के प्रशासनिक अनुभव की प्रारंभिक शर्त को पूरा नही करते हैं। यही नहीं, इनमें से एक के खिलाफ वित्तीय अनियमितता की जांच वर्ष 2016 में केंद्रीय सतर्कता आयोग और वर्तमान में सीबीआई कर रही है।


पत्र में यह भी कहा गया कि यह बैठक वर्चुअल तरीके तथा भौतिक उपस्थित दोनों मिश्रित करके की गई और इस बैठक में दो सदस्य भौतिक रुप में उपस्थित थे तथा यूजीसी के एक नामित सदस्य वर्चुअल मोड में उपस्थित थे। दोनों विधियों को मिश्रित करना असंवैधानिक है और न्याय संगत नहीं है। केवल एक ही विधि होनी चाहिए या तो पूर्ण वर्चुअल या पूर्ण भौतिक रुप उपस्थिति।
भाजपा नेता जुगरान ने कहा कि उच्च शिक्षा विभाग में लगातार ऐसे निर्णय लिए जा रहे हैं, जिन्हें या तो हाईकोर्ट में चुनौती दी गई या तो जनता के बीच चर्चा का विषय बनते रहे हैं, जिससे सरकार की छवि खराब होती है।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.