आईटीआई कर्मियों ने 23 अक्टूबर तक आंदोलन का बिगुल फूंका। ITI agitation

अविकल उत्त्तराखण्ड


देहरादून।
उत्तराखण्ड राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान  कर्मचारी संघ ने मांगों का निराकरण न होने के कारण अब चरणबद्ध आन्दोलन का निर्णय लिया गय़ा है।

Iti uttarakhand

प्रदेश के सभी कर्मचारी 28 सितम्बर तक तक काली पट्टी लगाकर संस्थान स्तर पर प्रवेश प्रक्रिया में सहयोग नहीं करेंगे।

29 सितम्बर से 05 अक्टूबर तक अपने मूल कार्य के अतिरिक्त दिये गए समस्त प्रभार वापस करवाने की  कार्यवाही के लिए प्रधानाचार्यों को पत्र सौपेंगे।

Iti uttarakhand

6 अक्टूबर से प्रान्तीय कार्यकारिणीं के पदाधिकारियों / कुमाऊँ मण्डल के कार्यकारिणीं सदस्यों / कुमाऊँ मण्डल के जिला कार्यकारिणीं सदस्यों द्वारा एक दिवसीय उपवास एवं धरना प्रशिक्षण निदेशालय हल्द्वानीं में किया जाएगा।

लंबे समय से आंदोलित है, यह भी पढ़ें, plss clik

उत्त्तराखण्ड के सैकड़ों आईटीआई कर्मी नाराज, 11 सितम्बर से बड़ी जंग लड़ेंगे

07 अक्टूबर से -11 अक्टूबर तक प्रातः 11 से 12 बजे तक एक घंटा कार्य बहिष्कार तथा अनुदेशकों/कार्यदेशकों/भण्डारी संवर्ग द्वारा कार्यालय संबंधी कार्यों का पूर्ण बहिष्कार (जिसमें एसपीआईयू/ यूकेएसडीएम/ यूकेडब्ल्यूडीपी भी सम्मिलित) रहेंगे।

Iti uttarakhand

12 अक्टूबर से प्रान्तीय कार्यकारिणीं के पदाधिकारियों / गढवाल मण्डल के कार्यकारिणीं सदस्यों / गढवाल मण्डल के जिला कार्यकारिणीं सदस्यों द्वारा एक दिवसीय उपवास एवं धरना कार्यक्रम – निदेशक/सचिव कैम्प कार्यालय, महिला आईटीआई देहरादून  में किया जाएगा।

Iti uttarakhand

13 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक प्रातः 11 से 12 एवं अपराह्न 2 से 3 कार्यबहिष्कार (कुल दो घंटा) + प्रान्तीय/जिला पदाधिकारियों द्वारा सम्बन्धित जनपद के प्रत्येक संस्थान में गेट मीटिंग होगी

Iti uttarakhand

23 अक्टूबर से प्रान्तीय कार्यकारिणीं की बैठक कर पूर्ण हड़ताल किए जाने पर विचार किया जाएगा।

संघ के अध्य्क्ष राजेन्द्र जोशी ने कहा कि काली पट्टी लगाकर प्रवेश प्रक्रिया में सहयोग न किए जाने का निर्णय मांगों के निराकरण अथवा प्रवेश प्रक्रिया की समाप्ति तक तथा कार्यालय सम्बन्धी कार्यों में सहयोग न किए जाने का निर्णय दिनांक 7 अक्टूबर से आन्दोलन की समाप्ति तक जारी रहेगा ।

Uttarakhandnews
Iti uttarakhand

Leave a Reply

Your email address will not be published.