चीफ ओमप्रकाश ने भी माना, कोरोना जांच में निजी लैब का बड़ा खेल। एक्शन लें डीएम। uttarakhand corona

निजी लैब में पॉजिटिव व्यक्ति की जांच नये सिरे से सरकारी लैब में भी होगी

नर्सिंग फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को हायर करेगी सरकार

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। उत्त्तराखण्ड शासन के चीफ ओमप्रकाश भी अब मानने लगे है कि देहरादून की निजी लैब में कोरोना जांच के नाम पर कुछ बड़ा खेल हो रहा है।

Uttarakhand corona

सचिवालय में आहूत एक उच्चस्तरीय वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग बैठक में सीएस ओमप्रकाश ने कहा कि कुछ ऐसी शिकायते मिल रही है कि सरकारी अस्पताल में कोरोना नेगेटिव व्यक्ति ने जब निजी लैब में जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आयी। इसके अलावा निजी लैब में जांच कर रहे कुल मरीजों में 50 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। नतीजतन डीएम देहरादून को गलत रिपोर्ट देने वाली प्राइवेट लैब के खिलाफ सख्त जांच के निर्देश दिये हैं। इस मुद्दे को “अविकल उत्त्तराखण्ड” आपके सामने पहले ही पेश कर चुका है। (देखिये लिंक)

प्रश्नचिन्ह? सरकारी और निजी लैब की कोरोना जांच के रिजल्ट में भारी अंतर। uttarakhand corona

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा कि देहरादून में लोगों से शिकायते मिल रही हैं कि कुछ प्राइवेट लेब में टेस्ट कराने पर रिपोर्ट पाॅजिटव आ रही है, जबकि सरकारी अस्पताल में उसी व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है। यह भी शिकायतें आ रही हैं कि देहरादून के प्राइेवेट लेबों से लगभग 50 प्रतिशत लोगों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आ रही है।

Uttarakhand corona

उन्होंने देहरादून के जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव को निर्देश दिये कि जिन लोगों के प्राइवेट लैब में टेस्ट पॉजिटिव आये हैं, उनमें से कुछ लोगों की सरकारी अस्पतालों में टेस्टिंग की जाय। यदि किसी प्राइवेट लैब द्वारा गलत रिपोर्ट दी जा रही है, तो उन पर सख्त कारवाई की जाय।

उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि यदि कोई गर्भवती महिला कोविड पाॅजिटिव आ रही हैं, तो उनके स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाय।

नर्सिंग फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को हायर करेगी सरकार

उन्होंने कहा कि नर्सिंग स्टाफ की संख्या को बढ़ाने के लिए नर्सिग काॅलेज के फाइनल ईयर के बच्चों को हाॅयर किया जाय। एनएचएम के मानकों के हिसाब से उन्हें वेतन दिया जाय।

Uttarakhand corona

सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने सभी जनपदों में कोविड कन्ट्रोल रूम की निगरानी वरिष्ठ अधिकारी को देने का सुझाव दिया।

वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग में सचिव पंकज पाण्डेय, दून मेडिकल कॉलेज के डाॅ आशुतोष सयाना, आईजी संजय गुंज्याल, अपर सचिव युगल किशोर पंत, डॉ अमित उप्रेती,सभी जिलाधिकारी, एसएसपी एवं सीएमओ उपस्थित थे।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.