कोरोना इफ़ेक्ट- उत्त्तराखण्ड के स्कूली पाठ्यक्रम में 30 फीसदी की कटौती, शासनादेश जारी

कक्षा 9-12 तक के लिए पुनर्गठित पाठ्यक्रम तैयार
कक्षा 1-8 तक एनसीईआरटी के एकेडमिक कैलेंडर को किया जाएगा लागू 

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून।
कोरोना महामारी के कारण पठन-पाठन में आये गतिरोध को देखते हुए उत्त्तराखण्ड के स्कूली पाठ्यक्रम में 30 फीसदी की कटौती की गई है। इस बाबत शासनादेश जारी कर दिया गया है।

Uttarakhand education

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी से पैदा हुई विषम परिस्थितियों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

आदेश में कहा गया है कि  विद्यालय शिक्षा विभाग के तहत चलने वाले सरकारी, अशासकीय सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त अशासकीय विद्यालयों में शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए पुनर्गठित पाठ्यक्रम को लागू किया जाएगा।

आदेश में कहा गया है कि कक्षा एक से आठवीं तक एनसीईआरटी द्वारा तैयार सीखने के परिणाम एवं वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर को ही राज्य में लागू किया जाएगा। 

Uttarakhand education

कक्षा 9 से 12 तक उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद रामनगर द्वारा तैयार पुनर्गठित पाठ्यक्रम को लागू किया जाएगा।

शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए गृह एवं बोर्ड परीक्षाओं के लिए इसी पाठ्यक्रम के आधार पर परीक्षाएं आयोजित की जाएगी। इसके साथ ही पूर्व निर्धारित पाठ्यक्रम में की गई कटौती से संदर्भित प्रसंगों को छात्रों को पढ़ाया जाएगा ताकि छात्र छात्राएं विषय का अधिकतम ज्ञान प्राप्त कर सकें।

Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.